Naidunia
    Wednesday, July 26, 2017
    PreviousNext

    UPA उम्मीदवार गोपाल कृष्ण गांधी ने भरा उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए नामांकन

    Published: Tue, 18 Jul 2017 01:09 PM (IST) | Updated: Tue, 18 Jul 2017 09:40 PM (IST)
    By: Editorial Team
    gopal krishna gandhi 18 07 2017

    नई दिल्ली। उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए एनडीए के उम्मीदवार वैंकेया नायडू के बाद अब यूपीए के उम्मीदवार गोपाल कृष्ण गांधी ने भी अपना नामांकन भर दिया है। गांधी ने दोपहर 1 बजे अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। गांधी को कांग्रेस समेत 18 विपक्षी दलों का समर्थन प्राप्त हैं।

    नामांकन के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, शरद यादव और सीताराम येचुरी की मौजूद थे। नामांकन भरने से पहले एक बयान में गांधी ने कहा कि देश में विपक्ष बड़ी संख्या में है और 18 दलों ने मुझे उम्मीदवार चुना है।

    कौन हैं गोपालकृष्ण गांधी

    गोपालकृष्ण गांधी का जन्‍म 22 अप्रैल 1945 को हुआ था। वह देवदास गांधी और लक्ष्‍मी गांधी के बेटे हैं। सी राजगोपालचारी उनके नाना थे। सेंट स्‍टीफेंस कॉलेज से अंग्रेजी साहित्‍य में एमए की डिग्री हासिल करने के बाद गोपालकृष्‍ण गांधी ने 1968 से 1992 तक एक आइएस अधिकारी के रूप में अपनी सेवाएं दीं। वह स्वेच्छा से सेवानिवृत्त हुए। बतौर आइएस अधिकारी उन्‍होंने तमिलनाडु में अपनी सेवाएं दीं। वह 1985 से 1987 तक उपराष्‍ट्रपति के सेक्रेटरी भी रहे। वहीं 1987 से 1992 तक राष्‍ट्रपति के ज्‍वाइंट सेक्रेटरी और 1997 में राष्‍ट्रपति के सेक्रेटरी भी रहे।

    गोपालकृष्‍ण गांधी ने ब्रिटेन में भारत के उच्‍चायोग में सांस्‍कृतिक मंत्री और लंदन में नेहरू सेंटर के डायरेक्‍टर के तौर पर भी अपनी सेवाएं दीं। वह दक्षिण अफ्रीका के एक अत्‍यधिक लोकप्रिय उच्‍चायुक्‍त भी रहे, जहां 1996 में उन्‍हें नियुक्‍त किया गया था। लेसोथो में भी उन्‍होंने भारत के उच्‍चायुक्‍त के तौर पर अपनी सेवाएं दीं। बाद में उन्‍हें 2000 में श्रीलंका में भारत का उच्‍चायुक्‍त और 2002 में नार्वे में भारत का राजदूत नियुक्‍त किया गया। आइसलैंड में भी भारत का राजदूत बनाया गया। वहीं 2004 से 2009 तक गोपालकृष्‍ण गांधी ने पश्चिम बंगाल के राज्‍यपाल के तौर पर भी अपनी सेवाएं दीं।

    इसके अलावा गोपालकृष्‍ण गांधी ने विक्रम सेठ के 'अ सुटेबल ब्‍वॉय' का हिंदी में अनुवाद किया है। वहीं श्रीलंका के तमिल वृक्षारोपण कर्मचारियों पर एक उपन्‍यास भी लिखा है। गोपालकृष्‍ण गांधी और उनकी पत्‍नी तारा गांधी की दो बेटियां हैं।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी