Naidunia
    Tuesday, May 23, 2017
    Previous

    पहाड़ी से पत्थर गिरते देख अलर्ट हुआ जवान और बच गई हजारों जानें

    Published: Sat, 20 May 2017 04:02 PM (IST) | Updated: Sat, 20 May 2017 04:29 PM (IST)
    By: Editorial Team
    uttarakhand landslide 20 05 2017

    देहरादून। बद्रीनाथ धाम के रास्ते भूस्खलन होने के बाद चार धाम यात्रा रोक दी गई है। शुक्रवार को विष्णुप्रयाग के नजदीक हाथीपहाड़ में पहाड़ी से मलबा हाईवे पर आ गिरा। इससे सड़क का 50 मीटर हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया। खास बात यह रही कि मौके पर तैनात पुलिस के एक जवान की तत्परता से बड़ा हादसा होने से बच गया।

    दरअसल, एक जवान ने पहाड़ी से कुछ पत्थरों को गिरता हुआ देखा था। उसने तुरंत चमौली में प्रशासन के बड़े अधिकारियों को अलर्ट किया और उस मार्ग से वाहनों को जल्दी-जल्दी निकालने का काम शुरू हुआ। सैंकड़ों वाहनों को बहुत कम समय में निकाला गया। इसके दो घंटे बात ही पहाड़ी का बड़ा हिस्सा धंस कर सड़क पर आ गया।

    चमौली की एसपी तृप्ति भट्ट के अनुसार, अलर्ट मिलते ही ज्यादा पुलिस बल मौके पर भेजा गया। पहाड़ी से लगातार पत्थर गिर रहे थे। तुरंत ही वाहनों को निकाला गया। जवान ने समय रहते नहीं चेताया होता तो शायद बड़ा हादसा हो सकता था।

    कुल 25 हजार यात्री फंसे

    मार्ग बंद होने से बद्रीनाथ धाम में तकरीबन 15 हजार यात्री फंसे हुए हैं, जबकि बद्रीनाथ धाम जाने वाले यात्रियों को भी अलग-अलग स्थानों पर रोक दिया गया। इनकी संख्या करीब 10 हजार बताई जा रही है। कुल 25 हजार यात्री फंस गए हैं। हाईवे के शनिवार तक खुलने की संभावना है।

    चमोली जिले में बीते एक पखवाड़े से दोपहर बाद बारिश का सिलसिला जारी है। अब यह बारिश मुसीबत का सबब बनती जा रही है। बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर 2016 में उभरा हाथीपहाड़ भूस्खलन जोन मुसीबत बनता जा रहा है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी