Naidunia
    Tuesday, November 21, 2017
    PreviousNext

    7 साल की उम्र में यह बच्ची स्केटिंग में जीत चुकी है 62 मेडल

    Published: Tue, 14 Nov 2017 01:08 PM (IST) | Updated: Wed, 15 Nov 2017 09:36 AM (IST)
    By: Editorial Team
    labdhi skating 14 11 2017

    जयपुर। राजस्थान के उदयपुर शहर की 7 वर्ष की उम्र में लब्धि की उपलब्धियां कमाल की है। स्केटिंग करने वाली लब्धि ने सात साल की उम्र में ही 62 मेडल जीत लिए है और उसकी इस उपलब्धि के लिए आज बाल दिवस के मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद लब्धि को राष्ट्रीय बाल पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा।

    लब्धि स्पीड स्केटिंग में 4 इंटरनेशनल गोल्ड सहित 62 मेडल कर जीत चुकी है। खेल और उसके प्रति जुनून के चलते लब्धि को अब राष्ट्रीय बाल पुरस्कार मिलने जा रहा है। लब्धि अभी सिर्फ दूसरी कक्षा में पढ़ती है। लब्धि को यह सम्मान नेशनल चाइल्ड अवॉर्ड फॉर एक्ससेप्शनल एचीवमेंट-2017 श्रेणी में दिया जा रहा है।

    लब्धि को अब तक 62 अंतरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय और राज्यस्तरीय मेडल मिल चुके है। वो फिलहाल ओलिंपिक-2024 की तैयारियों में जुटी है। लब्धि के माता-पिता अंजली और कपिल बताते हैं कि जब वह पौने तीन साल की थी तो उसे टेनिस सिखाने के लिए टेनिस एकेडमी ले गए थे। जहां कोच ने कहा कि टेनिस खेलने के लिए बच्ची के पैर और थाई मजबूत होने जरूरी हैं। दौड़ के लिए लब्धि को पहले स्केटिंग का प्रशिक्षण दिलवाया गया, लेकिन टेनिस सीखने आई लब्धि का स्केटिंग करते देख कोच ने उसे इसी गेम में रखा और तब से वह लगातार मेडल पर मेडल जीत रही है। लब्धि सुबह-शाम दो-दो घंटे प्रेक्टिस करती है।

    यह है लब्धि की प्रमुख उपलब्धियां:

    - हांगकांग में हुई स्पीड चैंपियनशिप 2016 में 2 कांस्य पदक

    - नेशनल स्केटिंग में 6 स्वर्ण और एक रजत

    - राज्य और जिला लेवल में 45 से अधिक मेडल

    - जर्मनी में हुए अंतरराष्ट्रीय यूरोप कप में 1 स्वर्ण और एक कांस्य

    - बेल्जियम में हुई रेको रोलर इंटरनेशनल चैम्पियनािशप 2016 में 3 स्वर्ण और एक रजत

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें