Naidunia
    Saturday, November 25, 2017
    Previous

    पद्मावती रिलीज हुई तो एक दिसंबर को भारत बंद : करणी सेना

    Published: Wed, 15 Nov 2017 06:09 PM (IST) | Updated: Thu, 16 Nov 2017 08:39 AM (IST)
    By: Editorial Team
    padmavati movie 01 11 17 15 11 2017

    जयपुर। संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती को लेकर सबसे पहले विरोध करने वाली राजपूत करणी सेना ने चेतावनी दी है कि एक दिसंबर को फिल्म रिलीज की गई तो भारत बंद किया जाएगा। अब तक करणी सेना और राजपूत समाज रिलीज से पहले फिल्म दिखाने और आपत्तिजनक दृश्य हटाने की मांग कर रहा था, लेकिन बुधवार को राजपूत करणी सेना के संरक्षक लोकेन्द्र सिंह कालवी ने फिल्म पर रोक लगाने की मांग उठा दी।

    उन्होने इस मामले में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से हस्तक्षेप करने और फिल्म पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने की मांग की है। कालवी ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि जौहर की ज्वाला में बहुत कुछ जल कर राख हो जाएगा। रोक सको तो पद्मावती को रोक लो।

    फिल्म पद्मावती की जयपुर में शूटिंग के दौरान सबसे पहले करणी सेना ने इसका विरोध किया था और करणी सेना के कार्यकर्ताओं पर भंसाली से मारपीट का आरोप भी लगा था। अब इस मामले को लेकर राजस्थान सहित देश के विभिन्न हिस्सों में विरोध हो रहा है। इसे देखते हुए अब राजपूत समाज की मांग है कि फिल्म पर प्रतिबंध लगाया जाए।

    कालवी ने जयपुर के राजपूत सभा भवन में पत्रकारों से कहा कि जब भंसाली यहां शूटिंग कर रहे थे तो हमारे विरोध के बाद एक समझौता हुआ था और हमसे कहा गया था कि रिलीज से पहले फिल्म राजपूत समाज के विशेषज्ञों को दिखाई जाएगी, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हो रहा है और न सिर्फ फिल्म का प्रमोशन किया जा रहा है, बल्कि रिलीज की तारीख भी घोषित कर दी गई है।

    इससे पता चलता है कि भंसाली की नीयत में खोट है। फिल्म में घूमर गीत को लेकर राजस्थान के सारे राजपरिवार विरोध दर्ज करा चुके है। ऐसे में अब हमारी मांग है कि सरकार सिनेमाटोग्राफी एक्ट का पालन करते हुए फिल्म पर प्रतिबंध लगाए।

    उन्होंने साफ कहा कि अगर एक दिसंबर को फिल्म रिलीज होती है तो भारत बंद किया जाएगा और फिल्म निर्माताओं को बहुत कुछ सहन करना पड़ेगा। कालवी ने कहा कि वे राजपूतों के त्याग व शौर्य और इस फिल्म के खिलाफ विभिन्न राज्यों में दौरे कर रहे हैं।

    उन्होंने दावा किया कि उन्हें देशभर से विभिन्न समुदायों का फिल्म के विरोध को लेकर समर्थन मिल रहा है। इसी के तहत गुजरात में बड़ी रैली की जा चुकी है और आने वाले दिनों मे गुडगांव, लखनऊ, पटना और भोपाल में रैलियां की जाएंगी। कालवी ने कहा है कि राजपूतों ने सिर कटाकर इतिहास रचा था अब सिर गिनाकर इतिहास दोहराया जाएगा।

    कोटा तो एक झांकी है -

    कालवी ने फिल्म के ट्रेलर के विरोध में कोटा में बुधवार को हुई तोडफोड़ के बारे में कहा कि कोटा तो एक झांकी है, बहुत कुछ बाकी है। राजपूतों के धैर्य की परीक्षा ली जा रही है जो सही नहीं है। धैर्यशील राजपूत युवा सुनवाई नहीं होने पर अब गैर अनुशासित होने को मजबूर होने लगे हैं, इसे चेतावनी समझा जाए। राजपूत अनुशासन से जीवन व्यतीत करता है, लेकिन उसके शांत स्वाभाव को गलत नहीं समझा जाए।

    दीपिका बेटी जैसी, लेकिन मैं उसे समझाउंगा नहीं -

    पद्मावती को लेकर फिल्म अभिनेत्री दीपिका पादुकोण के ट्वीट पर कालवी ने कहा कि दीपिका मेरी बेटी जैसी है, लेकिन मैं उसे समझाउंगा नहीं। इस तरह के बयान दे कर राजपूतों को उकसाया जा रहा है। साथ ही संजय लीला भंसाली के समर्थन में पूरे बॉलीवुड से आई प्रतिक्रिया पर कालवी ने तंज कसते हुए कहा कि जो प्रतिदिन शौहर बदलते है, उन्हें क्या पता कि जौहर क्या होता है।

    महिला आयोग ने सेंसर बोर्ड को पत्र लिखा -

    इस मामले में राजस्थान राज्य महिला आयोग ने सेंसर बोर्ड को पत्र लिखा है। राजस्थान महिला आयोग की अध्यक्ष सुमन शर्मा ने बोर्ड से कहा है कि वे शीघ्र ही फिल्म देखकर तीन दिन में बोर्ड को जवाब दें कि कहीं फिल्म में महिला की गरिमा पर तो प्रतिकूल प्रभाव नहीं हो रहा है।

    आयोग अध्यक्ष सुमन शर्मा का कहना है कि वे बोर्ड से अपील भी कर रही हैं कि राजपूत समाज की महिलाओं को फिल्म की स्क्रीनिंग में सम्मलित किया जाए। वहीं पद्मावती फिल्म बैन को लेकर आज भी राजस्थान में कई जगह विरोध प्रदर्शन किए गए। जोधपुर में करणी सेना व कई सामाजिक संगठनों ने विरोध स्वरुप पैदल मार्च निकाला और जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपकर फिल्म को बैन करने की मांग की।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें