Naidunia
    Monday, November 20, 2017
    PreviousNext

    रणथम्भौर में बढ़े टाइगर, तो छिड़ी इलाके की जंग

    Published: Tue, 21 Mar 2017 01:02 PM (IST) | Updated: Wed, 22 Mar 2017 08:05 AM (IST)
    By: Editorial Team
    ranthambore 21 03 2017

    जयपुर। पिछले कुछ सालों में रणथम्भौर में बाघों की संख्या तेजी से बढ़ी है जिससे इन बाघों के बीच क्षेत्रीय विवाद काफी बढ़ गया है। आमतौर पर, एक बाघ 10-12 वर्ग किलोमीटर की सीमारेखा रखता है और उसके क्षेत्र में प्रतिद्वंद्वी को प्रवेश करने की अनुमति नहीं होती है।

    अगर कोई प्रवेश कर भी देता है तो प्रभुत्व की लड़ाई शुरू हो जाती है और उनमें से शक्तिशाली उस क्षेत्र में रहता है और कमजोर को वहां से बाहर कर दिया जाता है।

    इस रिजर्व में 1973 में केवल 14-18 टाइगर थे। 2016 में यह संख्या 60 तक पहुंची।

    उत्तराखंड में काॅर्बेट और असम में काझीरंगा के बाद भारत में यह तीसरा सबसे घनी आबादी वाला टाइगर रिजर्व है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें