Naidunia
    Sunday, October 22, 2017

    Scientist

    इस जानवर का खून होता है नीला, 10 लाख में बिकता है एक लीटर

    Sun, 22 Oct 2017 03:26 PM (IST)

    उत्तरी अमेरिका के समंदर में पाया जाने वाले हॉर्सशू केकड़े का नीला खून चिकित्सा विज्ञान के लिए किसी अमृत से कम नहीं है।

    ब्राजील में 14 लोगों का परिवार, जिसके हर सदस्य के हाथ में हैं 12 उंगलियां

    Sun, 15 Oct 2017 08:19 AM (IST)

    मगर, डि सिल्वा परिवार के लिए यह असामान्यता नहीं एक अद्वितीय निशान का पर्याय है और वे अपनी अतिरिक्त उंगलियों को एक एसेट मानते हैं।

    बासमती धान की खेती पर छत्तीसगढ़ में लगी रोक

    Sat, 14 Oct 2017 08:34 AM (IST)

    भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद ने (आईसीएआर) छत्तीसगढ़ में खुशबूदार धान बासमती की खेती पर रोक लगा दी है।

    बेटी का विवाह करने से पहले 21 जरूरतमंद बेटियों का कन्यादान

    Fri, 13 Oct 2017 07:44 AM (IST)

    शहर के पूर्वी क्षेत्र में 17 नवंबर को रिंग रोड स्थित एक होटल में अनूठा सामूहिक विवाह सम्मेलन होने जा रहा है।

    सिर्फ सामान ही नहीं, बल्कि बल्ब के स्क्रू तक कसेगा ये रोबोटिक ग्रिपर

    Thu, 12 Oct 2017 10:44 AM (IST)

    यह ग्रिपर बिना अतिरिक्त प्रशिक्षण के किसी भी वस्तु को खुद से उठाकर उसमें हेरफेर कर सकता है।

    आंसुओं से पैदा हो सकती है बिजली, जानिए कैसे

    Tue, 10 Oct 2017 05:15 PM (IST)

    आंसू और लार में मौजूद एक विशेष प्रोटीन ने बिजली बनाने के लिए लाइसोसिम का उपयोग किया।

    जैक्स ड्युबोचेट, जोआखिम फ्रैंक और रिचर्ड को मिला रसायन का नोबल प्राइज

    Wed, 04 Oct 2017 05:45 PM (IST)

    स्वीडिश रॉयल एकेडमी ने इस साल के लिए रसायन के नोबल पुरस्कार की घोषणा कर दी है।

    जिस गुत्थी को सुलझाने पर मिला नोबल, उस पर रविवि में भी हुई कई रिसर्च

    Wed, 04 Oct 2017 04:57 PM (IST)

    जिस नोबल पुरस्कार से दुनियाभर में अमेरिकन वैज्ञानिक अपना स्तंभ गाड़ चुके हैं, उसी थीम पर पं. रविशंकर शुक्ल विवि में पिछले 1986 से रिसर्च हो रहा है।

    स्मार्ट फोन से जुड़े टेस्ट से 10 सेकंड में पता चलेगा HIV का

    Sun, 01 Oct 2017 12:10 PM (IST)

    यह जांच रोगी के एक बूंद खून के इस्तेमाल से महज 10 सेकंड में ही एचआईवी का पता लगा सकती है।

    बाढ़ में 15 दिन डूबे रहने के बाद भी नहीं बर्बाद होगी धान की यह प्रजाति

    Fri, 29 Sep 2017 10:35 AM (IST)

    स्वर्णा सब-1 धान की प्रजाति 140 से 150 दिनों में तैयार हो जाती है। इसकी उपज 50 से 55 क्विंटल प्रति हेक्टेयर होती है।

    मिलती जुलती तस्वीरें

    • बातें कर सकता है यह रोबोट

    • बाल वैज्ञानिकों के मॉडल में दिखी समाज की चिंता

    • धार के जूनियर साइंटिस्ट देशभर में दूसरे स्थान पर

    • 'इंडियंस की काबिलियत किसी से छुपी नहीं है'

    • फर्जीवाड़ा रोकने की कवायद, बाल वैज्ञानिक होंगे ऑनलाइन

    • 400 वैज्ञानिक गेहूं और जौ पर आज से करेंगे चर्चा

    • दिल्ली में प्रतिभा का लोहा मनवाएंगे जिले के 8 बाल वैज्ञानिक

    • 55 साल से है 5 रुपए का इंतजार : प्रो राव

    • नन्हें वैज्ञानिकों ने दिखाया टैलेंट

    • कृषि वैज्ञानिकों ने दी उन्नत तकनीक की जानकारी