Naidunia
    Sunday, September 24, 2017
    PreviousNext

    नेपाल के आंसू पोछेंगे वॉट्सग्रुप, करेंगे भूकंप पी‍ड़ि‍तों की मदद

    Published: Thu, 30 Apr 2015 03:29 PM (IST) | Updated: Fri, 01 May 2015 07:49 AM (IST)
    By: Editorial Team
    whatsapp-group-nepal 2015430 153549 30 04 2015

    आनंद धाकड़, ग्वालियर (मध्‍यप्रदेश)। नेपाल में आया भूकंप और उससे हुआ जानमाल का नुकसान। संवेदनाएं व्यक्त करने के लिए चर्चा हम सभी की जुबां पर हैं। मदद के लिए हाथ बढ़े हैं उन लोगों के जो देर रात वॉट्सएप पर फोटो, पोस्ट और वीडियोज शेयर करने में ही व्यस्त रहते हैं, लेकिन यहां बात सिर्फ किसी न किसी नाम से बनाए गए ग्रुप में शामिल मेंबर्स की हो रही है।

    जिन्होंने आपस में लागतार घंटों डिस्कशन करने के बाद नेपाल में आए भूकंप से पीड़ित लोगों को मदद देने के लिए सहायता राशि जुटाना शुरू कर दी है। यह राशि ग्रुप एडमिन के खाते में ही जा रही है। एडमिन ने अलग से बैंक अकाउंट भी खोला है। जिसे जरूरतमंद तक पहुंचाने की जिम्मेदारी नेपाल या फिर आसपास के देशों में रहने वाले मेंबर को सौंपी गई है, क्योंकि राहत देने वाले ग्रुप में अन्य देशों के मेंबर भी शामिल हैं।

    टारगेट है 21 हजार का

    नेपाल तक राहत पहुंचाने 'फ्रेंड्स फोरएवर ग्रुप' ने 21 हजार रुपए राहत राशि एकत्रित करने का टारगेट फिक्स किया है। ग्रुप में शामिल 75 मेंबर्स ने 16 हजार रुपए एकत्रित कर एडमिन सुरेश घोड़के को सौंप दिए हैं। सुरेश बताते हैं कि उनका विचार पहले ग्रुप में शामिल राजकुमार श्रेष्ठा तक एकत्रित की गई राशि पहुंचाने का था, लेकिन फिर बाद में सभी मेंबर्स की सहमति पर सिटी सेंटर स्थित 'नईदुनिया' कार्यालय पहुंचकर 'जागरण' के हाथों इस राशि को सौंपने की तैयारी की है।

    महफिल से निकले यार

    एक साल पहले वॉट्सएप पर 'यारों की महफिल' नाम से ग्रुप राहुल तोमर ने शुरू किया था, जिसका नाम बदलकर कर 'शायरों की महफिल कर दिया है, क्योंकि इस ग्रुप पर मेंबर्स सिर्फ शायरी ही करते हैं। इन शायरों ने ग्रुप पर ही नेपाल के लोगों को राहत पहुंचाने का प्लान तैयार किया और नियुक्त किया दिल्ली में रहने वाले सत्यराज सिंह का। सभी मेंबर्स ने 11 हजार रुपए कलेक्ट कर लिए हैं और सत्यराज के आईसीआईसी बैंक के अकाउंट में डाल भी दिए हैं।

    'लाजवाब यार भी पीछे नहीं'

    भूले बिसरे यारों का यह ग्रुप भी नेपाल के लोगों को राहत देने के लिए आगे आया है। ग्रुप एडमिन देवेन्द्र सिंह ने की पहली पर सभी यारों ने पांच हजार रुपए 'जागरण राहत कोष में जमा करने की तैयारी कर ली है। देवेन्द्र कहते हैं उनके ग्रुप में 15 मेंबर्स हैं, व्यवस्ताओं की वजह से कोई भी मेंबर दिल्ली जाने की स्थिति में नहीं है। इसलिए सभी ने 'नईदुनिया' पहुंचकर एकत्रित राशि को जमा करने का मन बनाया है।

    फिर भी ध्यान रखें

    -अक्सर देखने में आया है कि राहत के नाम पर एकत्रित की गई राशि गलत हाथों में पहुंच जाती है। ऐसे में सभी मेंबर्स अकाउंट में जमा की गई राशि की प्राप्ति अपने पास रखें।

    -संवेदनाओं में आकर पैसा एक ही बार कहने पर न दें। पहले ग्रुप मेंबर्स से डिस्कशन करें और पुख्ता होने और विश्वसनीय एडमिन होने पर हो पैसा दें।

    -जहां तक हो ग्रुप के दो से तीन मेंबर्स पैसे डोनेट करते समय साथ रहें।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें