Naidunia
    Tuesday, October 24, 2017
    PreviousNext

    चीनी देवता यनमो वांग हैं यमराज, लेकिन कैसे?

    Published: Wed, 03 May 2017 10:24 AM (IST) | Updated: Thu, 04 May 2017 09:40 AM (IST)
    By: Editorial Team
    yamrajji 03 05 2017

    चीन के ही लो-यांग जिले के सुआन वु क्षेत्र में एक ऐसा खंबा है, जिस पर ऊपर से लेकर नीचे तक संस्कृत भाषा में ही लिखा गया है। हिन्दू धर्म में जिन धर्मराज यम को मौत और यमलोक का देवता कहा गया है, उन्हें चीनी परंपराओं में भी यनमो वांग नाम से पुकारा जाता है।

    तो वहीं, चीन के शिनमेन क्षेत्र में स्थित फुजियान प्रांत में प्राचीन शिव मंदिर के अवशेष मौजूद हैं। जहां 5 फीट लंबा शिवलिंग वर्तमान में भी देखा जा सकता है। यह शिवलिंग जिस मंदिर में है, वह पूरी तरह ध्वस्त है लेकिन फिर भी इसके अवशेषों और शहर की दीवारों पर वैदिक धर्म से संबंधित नक्काशी मिलती है।

    इस मंदिर पत्थर को 1011 ई.पू. में काटा गया था लेकिन फिर 1400 ईसवीं में इसे दोबारा निर्मित किया गया। यहां तक कि वर्ष 1950 तक संतानहीन चीनी महिलाएं इस मंदिर में शिव का आशीर्वाद लेने आती थीं।

    मूल रूप से भगवान शिव को समर्पित इस मंदिर को तांग साम्राज्य द्वारा 685 ईसवीं में बनवाया गया था लेकिन चीन में रहने वाले तमिल समुदाय ने 13वीं शताब्दी के उत्तरार्ध में फिर इस मंदिर की मरम्मत करवाई थी।

    चीन में ऐसे कई प्रमाण मिलते हैं जो यह साबित करते हैं कि छठी शताब्दी की शुरुआत तक यहां हिन्दू धर्म से जुड़े काफी मंदिर हुआ करते थे।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें