Naidunia
    Saturday, November 25, 2017
    PreviousNext

    क्या आप बनना चाहेंगे Next 'Mark Zuckerberg'?

    Published: Sat, 31 Dec 2016 11:07 AM (IST) | Updated: Sat, 13 May 2017 12:16 PM (IST)
    By: Editorial Team
    indaintempleand mark 31 12 2016Mark Zuckerberg

    सफलता का कोई पैमाना नहीं होता। अमूमन कई लोग कड़ी मेहनत करने के बाद भी सफल नहीं हो पाते, तो कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जिनके पास सफलता स्वयं चलकर सामने आती है। ऐसे ही कई सफल व्यक्ति हैं लेकिन सफलता का जब भी जिक्र होता है तो मार्क जुकरबर्ग का नाम जरूर लिया जाता है।

    मार्क, दुनिया की सबसे बड़ी सोशल वेबसाइट के संस्थापक और सीईओ हैं। फेसबुक के संस्थापक बहुत साल पहले नीम करौली माता के मंदिर में मां के सामने मन्नत मांगने आए थे।

    ये वो दौर था। जब फेसबुक उतनी सफल सोशल वेबसाइट नहीं थी, जितनी आज है। नीम करौली माता का मंदिर उत्तराखंड के नैनीताल के पास है।

    मार्क के पहले एप्पल इंक के सह-संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी स्टीव जॉब्स भी इस मंदिर में दर्शन कर चुके हैं। यह मंदिर चर्चा में जब आया जब मार्क जुकरबर्ग ने प्रधानमंत्री से मुलाकात की। इस मुलाकात में नीम करौली माता के मंदिर का जिक्र हुआ।

    कौन थे नीम करौली बाबा?

    # भवाली-अल्मोड़ा हाइवे पर बने इस मंदिर को कैंची धाम मंदिर के नाम से भी जानते हैं।

    # मंदिर में मौजूद आश्रम का नाम यहां के पुजारी स्वर्गीय नीम करौली बाबा के नाम पर पड़ा है।

    # बाबा चमत्कारी थे। कहा जाता है कि उनके पास गायब होने की सिद्धि थी।

    पढ़ें: क्यों हैं इनकी ब्लैक एंड व्हाइट जिंदगी?

    # लोगों के अनुसार नीम करौली बाबा को यह सिद्धि हनुमानजी ने दी थी। # बाबा का निधन 1973 में हुआ। बाबा को पहले पंडित नारायण के नाम से जाना जाता था।

    चित्र : नीम करौली वाले बाबा जी और उनके भक्त

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें