Naidunia
    Saturday, November 25, 2017
    PreviousNext

    यदि चाहते हैं माता-पिता का आशीर्वाद तो कीजिए चरण स्पर्श

    Published: Fri, 14 Jul 2017 11:13 AM (IST) | Updated: Fri, 14 Jul 2017 12:24 PM (IST)
    By: Editorial Team
    parentsmeetchildrenji 14 07 2017

    हिंदू धर्म में छोटी कन्याओं को मां दुर्गा का स्वरूप बताया गया है। जिनके सम्मान में हम उनके पैर स्पर्श करते हैं। दरअसल, पैर स्पर्श करने के पीछे का विज्ञान यह है कि जब हम किसी के पैर स्पर्श करने झुकते हैं तो यह दर्शाता है कि हम अपने अहंकार का त्याग कर किसी के सम्मान में आदर से चरण स्पर्श कर रहे होते हैं।

    चाहे पैर किसी कन्या के स्पर्श करें या वरिष्ठ व्यक्ति, माता-पिता उनके प्रति सम्मान प्रकट करने का यह सबसे बेहतर तरीका है। जिसकी पुष्टि हमारे धर्म ग्रंथ भी करते हैं।

    पैर स्पर्श करने का मनोवैज्ञानिक पहलू यह है कि जब हम किसी के पैर स्पर्श करते हैं तो हृदय से प्रेम पूर्वक आशीर्वाद देता है। जिसको आप उसके चेहरे पर साफ तौर पर देख सकते हैं।

    यदि हम कन्याओं के पैर स्पर्श करने के संस्कार की चर्चा करें। तो जन्म से लेकर मृत्यु तक वह कई रस्मो-रिवाज करती हैं। ऐसे समय उनके चरण स्पर्श करने का विशेष महत्व शास्त्रों में बताया गया है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें