Naidunia
    Sunday, October 22, 2017
    Previous

    शव यात्रा से लौटने के बाद क्यों होता है नहाना जरूरी, जानिए कारण

    Published: Fri, 11 Aug 2017 09:07 AM (IST) | Updated: Sun, 13 Aug 2017 10:29 AM (IST)
    By: Editorial Team
    funeral in india 2017811 94659 11 08 2017

    मल्टीमीडिया डेस्क। हम सभी ने बचपन से देखा है कि शवयात्रा या अंतिम संस्कार में हिस्सा लेने के बाद लोग नहाते हैं। कभी सोचा है कि ऐसा क्यों किया जाता है? हम मानते रहे हैं कि यह हमारी धार्मिक मान्यता का हिस्सा है, लेकिन असल में इसका वैज्ञानिक कारण भी है।

    सभी जानते हैं कि व्यक्ति की मौत के बाद उसका शरीर गलना शुरू कर देता है। इसे अंग्रेजी में डीकम्पोज (decompose) होना कहते हैं। जब बॉडी डीकम्पोज होती है, तो उसमें कई तरह के बैक्टीरिया पनपने लगे हैं। ये बैक्टीरिया उन लोगों पर हमला करते हैं, जो मृत शरीर के आसपास होते हैं। इन्हीं घातक जीवाणुओं को भगाने के लिए नहाना जरूरी होता है।

    हिंदू धर्म के जानकार बताते हैं कि पुराने जमाने में स्वास्थ्य सेवाएं ठीक नहीं थीं। टीकाकरण को लेकर भी इतनी सुविधाएं और जागरूकता नहीं थी। वहीं कई बार व्यक्ति की मौत गंभीर संक्रामक बीमारियों के कारण होती है। इसलिए बचने के लिए अंतिम संस्कार के बाद नहाने और कपड़े बदलने का चलन शुरू किया गया था, जो आज तक चल रहा है।

    ...इसलिए जलाया जाता है शव

    मालूम हो, हिंदू धर्म में शव को जलाने की परंपरा है। मान्यता है क‌ि मनुष्य का शरीर पांच तत्वों- पृथ्वी, जल, अग्न‌ि, आकाश और वायु से बना है। शव को जलाने से यह पांचों तत्व अपने-अपने तत्व से जाकर म‌िल जाते हैं और जब पुर्नजन्म होता है तब वापस शरीर में म‌िल जाते हैं।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें