Naidunia
    Tuesday, January 17, 2017

    जब नारद जी ने पूछा, और श्रीहरि ने बताया, 'कर्म बड़ा या भाग्य!'

    Thu, 12 Jan 2017 11:46 AM (IST)

    इंसान को कर्म करते रहना चाहिए, क्योंकि कर्म से भाग्य बदला जा सकता है।

    हिंदू क्यों करते हैं मूर्ति पूजा, यह है सटीक जवाब

    Sat, 07 Jan 2017 10:40 AM (IST)

    स्वामी जी ने कहा, 'ये तस्वीर कागज का टुकड़ा, कांच के फ्रेम में जड़ी है।

    इसीलिए कहते हैं मां होती है दुनिया में महान

    Wed, 04 Nov 2015 10:25 AM (IST)

    इस बोझ के साथ सारा काम करती है, वह कभी परेशान नहीं होती।

    जब मुस्लिम परिवार के मेहमान बने स्वामी विवेकानंद

    Sat, 04 Jul 2015 11:10 AM (IST)

    विद्वान ने स्वामीजी से कहा, 'आप एक हिंदू संन्यासी हैं और ये वकील मुसलमान। इनके बच्चे आपके बर्तन, भोजन इत्यादि को छू देते होंगे।

    जब स्वामी विवेकानंद भी अपने आंसुओं को न रोक पाए

    Fri, 28 Feb 2014 03:25 PM (IST)

    स्वामी विवेकानंद एक बार एक रेलवे स्टेशन पर बैठे थे उनका अयाचक (ऐसा व्रत जिसमें किसी से मांग कर भोजन नहीं किया जाता) व्रत था।

    जब गुरु ने विवेकानंद से कहा - तू तो क्या तेरी हड्डियों से भी विश्व कल्याण होगा

    Fri, 03 Jul 2015 08:50 AM (IST)

    4 जुलाई 2015 को स्वामी विवेकानंद की पुण्यतिथि है। बालक नरेंद्र बचपन से ही मेधावी, स्वतंत्र विचारों के धनी व्यक्ति थे।

    उसकी बात मानते तो वकील होते विवेकानंद

    Sat, 04 Jul 2015 07:50 AM (IST)

    रिश्तेदार बड़े क्रूर होते हैं। उन्होंने नरेंद्र के पैतृक मकान पर कोर्ट में दावा कर दिया।

    स्टेशन मास्टर ने मांगी भीख, विवेकानंद ने पिया हुक्का

    Sat, 04 Jul 2015 08:01 AM (IST)

    बात सन् 1886 की है। यात्रा के दौरान स्वामी विवेकानंद हाथरस स्टेशन पर उतरे। वहां उनका स्वास्थ्य खराब हो गया।

    स्वामी विवेकानंद ने सुना वेश्या का गीत

    Sat, 04 Jul 2015 08:08 AM (IST)

    कार्यक्रम के आखिरी में एक गणिका (वेश्या) अपना नृत्य औऱ गीत प्रस्तुत करने के लिए उपस्थित हुई।

    विवेकानंद कहते थे - बंदरों की तरह होती हैं कठिनाइयां

    Sat, 04 Jul 2015 11:44 AM (IST)

    घटना तब की है जब स्वामी विवेकानंद वृंदावन में थे। सड़क पर चल रहे थे। कुछ लाल मुंह के बंदर उनके पीछे पड़ गए।

    अटपटी-चटपटी