Naidunia
    Tuesday, September 26, 2017

    नवरात्रि के नौ दिन, नौ रंगों से करें माता की आराधना, पूरी होंगी इच्छाएें

    Tue, 26 Sep 2017 01:30 AM (IST)

    क्या आप जानते हैं कि नवरात्रि के नौ दिनों के दौरान प्रत्येक दिन के लिए एक विशेष रंग का महत्व होता है।

    राशि के अनुसार करें मां भगवती की पूजा, मनोकामनाएं होंगी पूरी

    Sat, 23 Sep 2017 04:54 PM (IST)

    माता को समर्पित 9 दिनों तक चलने वाले इस त्योहार में माता के नौ रुपों की विशेष पूजा की जाती है।

    दशहरा विशेष : राक्षस संस्कृति का संरक्षक रावण

    Sat, 23 Sep 2017 03:35 PM (IST)

    दक्षिण भारत में सुबेल पर्वत पर स्थित सुवर्ण निर्मित अति संपन्न लंकानगरी को दैत्यों ने अपने शौर्य और पराक्रम से बसाया था।

    नवरात्रि विशेषः जाने क्यों जलाते हैं नौ दिनों तक मां के नाम की अखंड ज्योति

    Fri, 22 Sep 2017 01:12 AM (IST)

    नवरात्रि के अवसर पर देश के अधिकतर घरों तथा मंदिरों में नौ दिनों के लिए मां के नाम का अखंड दीप प्रज्ज्वलित रहता है।

    नवरात्र में इन लोगों को नहीं रखने चाहिए उपवास, इन बातों का भी रखें ध्यान

    Fri, 22 Sep 2017 08:36 AM (IST)

    इन नौ दिनों में व्रत रखने वालों के लिए कुछ नियम होते हैं। सबसे पहले तो जानते हैं किन लोगों को व्रत नहीं रखना चाहिए।

    इस नवरात्रि के 9 दिन लगाएं ये 9 विशेष भोग, प्रसन्न होंगी माता रानी

    Thu, 21 Sep 2017 12:35 AM (IST)

    गुरुवार से मां दुर्गा को समर्पित नवरात्रि का शुभारंभ हो रहा है।

    नवरात्रि के नौ दिनों में करें माता की पूजा और इन मंत्रों का रखें ध्यान

    Wed, 20 Sep 2017 10:01 AM (IST)

    जानिए किस दिन माता के किस रूप की आराधना होती है और इसका क्या मंत्र है?

    इस शक्तिपीठ की ऐसी माया, शहर में कोई भूखा और बिना पैसे के नहीं रहता

    Thu, 29 Jun 2017 08:27 AM (IST)

    लोक कथाओं के अनुसार, हरसिद्धि मंदिर में उज्जैन के राजा रहे विक्रमादित्य की आराध्य देवी का वास है।

    नवरात्रि: जाने विदेशों में स्थित मां दुर्गा के शक्ति पीठों के बारे में

    Wed, 20 Sep 2017 12:06 AM (IST)

    अभी नवरात्र की शुरुआत होने जा रही है और जयकारे मां के शक्‍तिपीठों के न लगें, ऐसा कैसे हो सकता है।

    सर्वपितृ अमावस्या पर इस प्रकार करें सभी पितरों का श्राद्ध

    Tue, 19 Sep 2017 08:37 AM (IST)

    कहते हैं जिन लोगों ने पूर्वजों का तीन वर्ष तक श्राद्ध न किया हो, उनके पितर पितृ-योनि से वापस प्रेत योनि में आ जाते हैं।

    अटपटी-चटपटी