Naidunia
    Friday, May 26, 2017
    PreviousNext

    आज ही बंद कर दें पब्लिक पोर्ट पर फोन चार्ज करना, कहीं हैक न हो जाए

    Published: Thu, 16 Feb 2017 06:13 PM (IST) | Updated: Fri, 17 Feb 2017 10:02 AM (IST)
    By: Editorial Team
    charginrports 2017216 181816 16 02 2017

    मल्टीमीडिया डेस्क। जैसे ही आपका स्मार्टफोन 10 प्रतिशत बैटरी बताता है, आपके दिल की धड़कनें बढ़ने लग जाती है लेकिन जब आपको कहीं फोन चार्ज करने पब्लिक पोर्ट मिल जाता है तो खुशी का ठिकाना नहीं रहता। आप तुरंत जाकर अपने स्मार्टफोन को चार्जिंग में लगा देते हैं। लेकिन आपको बता दें कि हो सकता है स्मार्टफोन का सारा डाटा हैक हो जाए। फोन को हैक्ड चार्जिंग सॉकेट में लगाते ही डाटा लीक हो सकता है।

    सिक्योरिटी फर्म Authentic8 के मुताबिक, जैसे ही आप अपना स्मार्टफोन किसी भी चार्जिंग सॉकेट से कनेक्ट करते हैं जो कि हैक्ड है तो आपका स्मार्टफोन भी इन्फेक्टेड हो सकता है और आपके स्मार्टफोन का सारा डाटा लीक हो सकता है। एयरपोर्ट, प्लेन, कॉन्फ्रेंस सेंटर और पार्क जैसी जगहों पर पब्लिक चार्जिंग स्टेशन और पब्लिक वाई-फाई एक्सेस पॉइंट्स आसानी से मौजूद होती है। ताकि लोगों को उनके स्मार्टफोन का एक्सेस और डाटा मिलता रहे।

    इस शख्स के पास है सबसे पुराना मोबाइल फोन Nokia 3310

    सिक्योरिटी फर्म ने दावा किया है कि जिस कॉर्ड को आप अपने स्मार्टफोन को चार्ज करने के लिए इस्तेमाल करते हैं वही कॉर्ड फोन से डाटा दूसरे डिवाइसेस में भेजने के भी काम आता है। हैकर्स आपके स्मार्टफोन के चार्जिंग में लगते ही आपकी सारी जानकारी आप से चुरा लेते हैं। इसमें आपके ई-मेल्स, टेक्स्ट मैसेजेस, फोटोज और कॉन्टैक्ट्स हो सकते हैं। ये 'ज्यूस जैकिंग' कहलाता है। इस टर्म को 2011 में खोजा गया था। पिछले साल टर्म वीडियो जैकिंग भी खोजा था जिसमें हैकर्स हैक्ड पोर्ट का उपयोग कर फोन के वीडियो डिस्प्ले को हैक कर लेते हैं।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी