Naidunia
    Tuesday, August 22, 2017

    बटुक भैरव जयंती

    बटुक भैरव जयंती के दिन जो साधक उनकी साधना करता है उसे सिद्धियों की प्राप्ति होती है।

    भैरव के भक्तों से यमराज भी खाते हैं भय

    Tue, 26 May 2015 01:10 PM (IST)

    भैरव के समीप अगहन बदी अष्टमी को उपवास करते हुए रात्रि में जागरण करने वाला मनुष्य महापापों से मुक्त हो जाता है।

    ये है वो दिव्य साधना जिससे होते हैं 'बटुक भैरव' प्रसन्न

    Mon, 25 May 2015 04:30 PM (IST)

    स्कंद पुराण के अवंति खंड के अंतर्गत उज्जैन में अष्ट महाभैरव का उल्लेख मिलता है।

    यहां कालभैरव करते हैं आसव पान

    Tue, 26 May 2015 01:16 PM (IST)

    महाकालेश्वर की नगरी अवंतिकापुरी (उज्जैन) में स्थित कालभैरव जब आसव-पान( मदिरा पान) करते हैं तो यह दृश्य देखकर सभी आश्चर्य करते हैं।

    अकाल मृत्यु व दुखों से छुटकारा पाने के लिए कीजिए 'बटुक भैरव साधना'

    Mon, 25 May 2015 04:00 PM (IST)

    वर्णन मिलता है:- मारण, मोहनं, स्तंभनं, विद्वेषण, उच्चाटन, वशीकरण, आकर्षण, यक्षिणी साधना, रसायन क्रिया तंत्र के ये नौ प्रयोग हैं।

    आपत्तियों विपत्तियों के अधिदेवता है भैरव

    Tue, 26 May 2015 09:55 AM (IST)

    तंत्र साधक का मुख्य लक्ष्य भैरव की भावना से अपने को आत्मसात करना होता है।

    शास्त्रों में वर्णित है बटुक भैरव की महिमा

    Tue, 26 May 2015 09:34 AM (IST)

    चमेली फूल प्रिय होने के कारण उपासना में इसका विशेष महत्व है।

    भगवान भैरव का नाम इसलिए है 'बटुक' भैरव

    Tue, 26 May 2015 12:51 PM (IST)

    उन्होंने अपने पुत्र का नाम शिवदर्शन रखा लेकिन भगवान शिव नें उसका एक नाम और रखा जो था 'बटुक'।

    जानिए ऐसे हुई भैरव की उत्पत्ति

    Tue, 26 May 2015 12:59 PM (IST)

    वेदों ने कहा कि सबसे श्रेष्ठ शंकर हैं। ब्रह्मा जी के पहले पांच मस्तक थे।' श्री बटुक भैरव जयंती 28 मई 2015 (गुरुवार) के दिन