Naidunia
    Wednesday, March 29, 2017
    PreviousNext

    ट्रंप के नए यात्रा प्रतिबंध पर भी अदालत ने लगाई रोक

    Published: Thu, 16 Mar 2017 06:42 PM (IST) | Updated: Thu, 16 Mar 2017 06:44 PM (IST)
    By: Editorial Team
    trump-1-2-1 16 03 2017

    वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को अदालत ने फिर से झटका दिया है। हवाई के एक संघीय जज ने नए यात्रा प्रतिबंध पर भी रोक लगा दी है।

    प्रतिबंध के अमल में आने से कुछ घंटे पहले ही अदालत ने यह फरमान सुनाया। ऐसा नहीं होने पर छह मुस्लिम देशों के नागरिक अमेरिका में प्रवेश नहीं कर पाते।

    फैसले से नाराज ट्रंप ने कहा है कि अदालत इस मामले में अधिकार क्षेत्र से बाहर जा रही है। सरकार सुप्रीम कोर्ट में इसे चुनौती देगी।

    नैशविले में एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा,'संविधान राष्ट्रपति को देश के राष्ट्रीय हित में आव्रजन को निलंबित करने का अधिकार देता है।'

    इससे पहले जज डेरिक वाटसन ने बुधवार को 43 पन्ने के फैसले में प्रतिबंध को असंवैधानिक माना। उन्होंने कहा कि यदि इसे लागू किया गया तो इससे अपूरणीय क्षति होगी।

    यदि अदालत का फैसला नहीं आता तो यह प्रतिबंध बुधवार आधी रात से अमल में आ जाता। हवाई की भारतवंशी सांसद तुलसी गबार्ड, विपक्षी डेमोक्रेटिक पार्टी और मानवाधिकार संगठनों ने अदालत के फैसले का स्वागत किया है।

    फैसले के मुख्य बिंदु

    -आदेश की धारा-2 निष्प्रभावी हो गई है जिसके तहत छह देशों के नागरिकों के प्रवेश पर 90 दिनों का प्रतिबंध लगाया गया था।

    -धारा-छह भी प्रभाव में नहीं रह पाएगा जिसके तहत शरणार्थियों के आने पर 120 दिनों का प्रतिबंध लगाया गया था।

    -अदालत ने सरकार के आदेश को इस्लाम के खिलाफ बताया, क्योंकि प्रभावित देशों की 90 फीसद से ज्यादा आबादी मुस्लिम है।

    क्या है मामला?

    -27 जनवरी को ट्रंप ने पहला यात्रा प्रतिबंध जारी किया। सात मुस्लिम देशों के नागरिकों के अमेरिका में प्रवेश पर 90 दिन की रोक लगा दी। कहा गया कि ये देश सुरक्षा मानकों को पूरा नहीं करते।

    जिन सात देशों से वीजा निलंबित किया गया वे थे

    -ईरान, लीबिया, सीरिया, सोमालिया, सूडान, यमन और इराक।

    -120 दिनों के लिए अमेरिकी शरणार्थी कार्यक्रम पर रोक लगा दी। सीरियाई शरणार्थियों के प्रवेश पर अनिश्चित काल के लिए रोक।

    -इस आदेश का पूरी दुनिया में विरोध हुआ। कई राज्यों ने इसे चुनौती दी। संघीय अदालत ने इस पर रोक लगा दी। -छह मार्च को ट्रंप ने संशोधित यात्रा प्रतिबंध पर हस्ताक्षर किए।

    -इस बार छह देशों के नागरिकों के प्रवेश पर पाबंदी लगाई गई। इराक को सूची से बाहर कर दिया गया।

    -सीरिया सहित सभी देशों के शरणार्थियों के प्रवेश पर 120 दिन की रोक लगाई गई। हालांकि जिन शरणार्थियों को पहले से अमेरिका आने की मंजूरी मिल चुकी है उन्हें नहीं रोकने की बात इसमें कही गई थी।

    -पहले आदेश के बाद मची अफरातफरी को देखते हुए तय किया गया कि संशोधित आदेश 15 मार्च की आधी रात से अमल में लाया जाएगा।

    -नौ मार्च को हवाई प्रांत में इस आदेश के खिलाफ मुकदमा दायर किया गया। आदेश को चुनौती देने वाला हवाई पहला प्रांत था।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी