Naidunia
    Saturday, March 25, 2017
    PreviousNext

    टीपी के लंबे रोल पर लिखा भाषण पढ़कर अमेरिका के राष्ट्रपति बने थे आइजनहॉवर

    Published: Fri, 17 Mar 2017 07:54 AM (IST) | Updated: Fri, 17 Mar 2017 12:57 PM (IST)
    By: Editorial Team
    tp-us-president-speech 17 03 2017

    मल्टीमीडिया डेस्क। चुनाव प्रचार में अब तकनीक का इस्तेमाल बढ़ता जा रहा है। भारत में बीते कुछ सालों में तो लगातार बहुत बदलाव देखने में आया है। नेता अपने मुद्दों के चयन से लेकर उन्हें जनता तक पहुंचाने के लिए तकनीक का भरपूर इस्तेमाल कर रहे हैं।

    मगर 50 के दशक में ऐसा नहीं था। सन् 1952 में ड्वाइट आइजनहॉवर पहले अमेरिकी राष्ट्रपति बने, जिन्होंने अपने चुनाव प्रचार के लिए टेलीविजन पर भाषण देते समय टेलीप्रॉम्पटर यानी टीपी का इस्तेमाल किया था।

    टीपी की शुरुआत 1950 में हुई थी। वर्तमान में इस तकनीक के जरिये पेपर पर लिखी स्क्रिप्ट को एक कैमरे से शूट करके वाचक के सामने लगे दूसरे कैमरे के समक्ष लगी स्क्रीन पर वीडियो मॉनिटर की मदद से उभारा जाता है।

    ऐसा करने से वाचक को बार-बार पेपर पढ़ने के लिए नीचे नहीं देखना पड़ता। लेकिन, तब टीपी तकनीक आज की तरह नहीं थी। आइजनहॉवर को टीपी पर शब्द बड़े दिखें, इसके लिए बहुत सारे पेपर्स को जोड़कर एक बड़ा रोल बनाया गया और उन पर मोटे अक्षरों में आइजनहॉवर का भाषण लिखा गया।

    फोटो सौजन्य: लाइफ

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी