Naidunia
    Monday, September 25, 2017
    PreviousNext

    यू-ट्यूब कंटेंट के लिए गूगल ने अपने एड क्लाइंट्स से मांगी मांफी

    Published: Tue, 21 Mar 2017 11:21 AM (IST) | Updated: Tue, 21 Mar 2017 11:25 AM (IST)
    By: Editorial Team
    youtube content 21 03 2017

    वॉशिंगटन। विज्ञापनों को यूट्यूब पर ऑफेंसिव वीडियो के साथ दिखने के लिए गूगल ने सोमवार को माफी मांगी। मार्क एंड स्पेंसर और एचएसबीसी जैसे हाई-प्रोफाइल फर्मों ने ब्रिटिश बाजारों के लिए गूगल की साइट्स से विज्ञापन को हटा लिया था।

    ब्रिटिश सरकार ने सार्वजनिक क्षेत्र के विज्ञापनों को समलैंगिकता और विरोधी सेमिटिट्स के संदेशों के बगल में प्रदर्शित किए जाने के बाद में यू-ट्यूब पर अपने विज्ञापनों को निलंबित कर दिया है। इस कदम के बाद से कई बड़ी कंपनियों ने भी इस तरह के कदम उठाए।

    यूनाइटेड स्टेट्स के बाहर एल्फाबेट इंक के लिए ब्रिटेन सबसे बड़ा बाजार है। यहां से साल 2016 में 7.8 अरब डॉलर का राजस्व मिला था, जो कि अमेरिकी कंपनी के वैश्विक राजस्व का लगभग 9 फीसद था।

    गूगल ईएमईए प्रेसिडेंट मैट ब्रिट्टिन ने कहा कि मैं अपने साझीदारों और विज्ञापनदाताओं से माफी मांगना चाहूंगा, जो विवादित सामग्री पर दिखाए गए अपने विज्ञापनों से प्रभावित हो सकते हैं। यह बात उन्होंने लंदन में एनुअल एडवर्टाइजिंग वीक यूरोप इवेंट में कही थी।

    प्रतिष्ठित ब्रिटिश ब्रांडेड्स के अलावा दुनिया की कुछ सबसे बड़ी एडवर्टाइजिंग कंपनीज क्लाइंट्स के लिए बड़ा मार्केटिंग मटीरियल लगाने के लिए जिम्मेदार हैं। उन्होंने कहा कि वह इस काम की समीक्षा करेंगे कि वे कैसे काम करते हैं।

    यह बहिष्कार, विज्ञापन कंपनियों और इंटरनेट दिग्गजों के बीच हुआ नवीनतम संघर्ष है, जिन्होंने डिजिटल विज्ञापन में न केवल बड़ी ऑडियंस की पेशकश की है, बल्कि विज्ञापनों को अधिक टार्गेटेड और रिलीवेंट बनाने के लिए अपने उपयोगकर्ता डेटा को लागू करने की क्षमता भी प्रदान की है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें