Naidunia
    Saturday, June 24, 2017
    PreviousNext

    भारत-पाक सिंधु जल आयोग की बैठक बंद कमरे में शुरू हुई

    Published: Mon, 20 Mar 2017 07:49 PM (IST) | Updated: Mon, 20 Mar 2017 07:52 PM (IST)
    By: Editorial Team
    sindhu-river 1488753632.jpeg 20 03 2017

    इस्लामाबाद सिंधु जल आयोग की दो दिवसीय बैठक सोमवार को बंद कमरे में शुरू हो गई। इसमें भारत और पाकिस्तान के अधिकारियों ने सिंधु बेसिन से जुड़ी समस्याओं पर विचार-विमर्श किया।

    उड़ी आतंकी हमले के चलते दोनों देशों के रिश्तों में आए तनाव के कारण यह बैठक करीब दो साल बाद हो रही है। सिंधु जल आयुक्त पीके सक्सेना के नेतृत्व में 10 सदस्यीय भारतीय प्रतिनिधिमंडल ने पाकिस्तानी पक्ष के साथ बातचीत की। पाकिस्तानी दल का नेतृत्व मिर्जा आसिफ सईद कर रहे हैं।

    पाकिस्तान के जल और ऊर्जा मंत्री ख्वाजा आसिफ ने इस वार्ता की शुरुआत को दोनों देशों के संबंधों के लिए अच्छा बताया। एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच रातले जलविद्युत संयंत्र पर सचिव स्तर की वार्ता अगले महीने की 12 तारीख को वाशिंगटन में शुरू होगी।

    उन्होंने उम्मीद जताई कि भारत और पाकिस्तान के स्थायी सिंधु जल आयुक्तों की बैठक के बाद स्थितियां सकारात्मक दिशा में आगे बढ़ेंगी।

    बताते हैं कि इस बैठक के दौरान पाकिस्तान भारत से उसकी ओर बहने वाली नदियों पर तीन भारतीय जलविद्युत परियोजनाओं (पाकल दुल, मियार, कालनई) पर अपनी चिंताएं प्रकट करेगा।

    1,000 मेगावाट की पाकल दुल परियोजना चिनाब नदी पर, 120 मेगावाट की मियार परियोजना चिनाब के मियार नल्ला पर और 43 मेगावाट की कालनई परियोजना निचली कालनई नल्ला पर निर्माणाधीन हैं। पाकिस्तान का कहना है कि ये परियोजनाएं 1960 की सिंधु जल संधि का उल्लंघन है।

    पाकल दुल और मियार परियोजना जम्मू-कश्मीर में और कालनई परियोजना हिमाचल प्रदेश के लाहौल स्पीति जिले में स्थित है। सोमवार को शुरू हुई बैठक स्थायी सिंधु जल आयोग का 113वां सत्र है।

    आयोग की पिछली बैठक 2015 में हुई थी। सितंबर 2016 में भी इसकी एक बैठक प्रस्तावित थी, लेकिन उड़ी आतंकी हमले के कारण इसे निरस्त कर दिया गया था।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी