Naidunia
    Sunday, September 24, 2017
    Previous

    बच्चों के साथ बिस्तर में सोना मां को पड़ा भारी, जज ने सुनाया ऐसा फैसला

    Published: Tue, 14 Feb 2017 10:41 AM (IST) | Updated: Tue, 14 Feb 2017 11:19 AM (IST)
    By: Editorial Team
    parents child14 2017214 124342 14 02 2017

    लंदन। एक मां को अपने बच्चों के साथ बिस्तर में सोना भारी पड़ गया। जज ने निर्देश दिया है कि बच्चों को मां के साथ बिस्तर में सोने से रोका जाए। बच्चों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए यह फैसला लिया गया। दोनों बच्चों की उम्र चार साल से कम है। सामाजिक कार्यकर्ताओं ने बच्चों के शरीर पर खरोंच के निशान देखने के बाद इस मुद्दे को उठाया था।

    टेलीग्राफ की खबर के मुताबिक जज पीटर ग्रीनी ने कहा,'कुछ महीनों पहले बच्चे के पैर में चोट देखी गई थी। हालांकि यह गैर-इरादतन तरीके से लगी चोट थी। कई बार ऐसा होता है कि पैरेन्ट अपने बच्चों को 'रफ' तरीके से हैंडल कर लेते हैं।'

    कैम्ब्रिजशायर में इस मामले की सुनवाई प्रायवेट तौर पर की गई। इस दौरान मां लगाए गए इल्जामों पर मजबूत दलील देने में असमर्थ रही।

    जज ग्रीनी ने कहा, 'सबूत दर्शाते हैं कि कपल अपने बच्चों से खूब प्यार करता है। उन्होंने जानबूझकर अपने बच्चों को चोटिल नहीं किया है। बच्चों की मां हमेशा सोचती है कि वो उन्हें बेहतर जानती हैं।'

    सामाजिक कार्यकर्ता का दावा था कि मां लगातार बच्चों को संभालने के लिए दिए जा रहे सुझावों को नजरअंदाज कर रही थी। वो किसी भी तरह के सुझाव को मानने के लिए तैयार नहीं थी।

    जज ग्रीनी ने कहा, 'इस स्थिति में बच्चों को गोद देना ही बेहतर विकल्प था। मां का रवैया बच्चों के साथ बहुत ही रुखा था।'

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=
    • lalan kumar kanj21 Feb 2017, 04:39:59 PM

      yahaan maa se jyada amanviye kanoon hai..aise amanviye kanoon se duniya ko bachaya jana chahiye..rishte-pyar ko kanoon se sanchalit karana, murkhata hi hai!

    जरूर पढ़ें