Naidunia
    Wednesday, July 26, 2017
    PreviousNext

    पाक प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने खारिज की जेआईटी की रिपोर्ट

    Published: Mon, 17 Jul 2017 05:26 PM (IST) | Updated: Tue, 18 Jul 2017 08:35 AM (IST)
    By: Editorial Team
    nawaz sharif 2017717 172844 17 07 2017

    इस्लामाबाद। पाकिस्तान में प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के वकीलों ने पनामा पेपर लीक मामले में संयुक्त जांच दल (जेआईटी) की रिपोर्ट को गैरकानूनी ठहराते हुए अस्वीकार कर दिया। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट से भी उसे अस्वीकार करने की मांग की है। इस रिपोर्ट में प्रधानमंत्री शरीफ और उनके परिजनों के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले में मुकदमा चलाने की सिफारिश की गई है।

    सुप्रीम कोर्ट मंगलवार को भी मामले की सुनवाई करेगा। सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में मामले की सुनवाई शुरू होते ही प्रधानमंत्री शरीफ के वकीलों ने संयुक्त जांच दल की रिपोर्ट पर सवाल उठा दिये। कहा, यह रिपोर्ट गैरकानूनी और पक्षपातपूर्ण है। जांच दल ने किस अधिकार से विदेशी सरकार के साथ पत्र व्यवहार किया और वहां से दस्तावेज मंगवाए। सुप्रीम कोर्ट ने जब जांच दल को स्पष्ट दिशा-निर्देश दिए थे, तब उसने कैसे सीमा से बाहर जाकर कार्य किया ?

    ख्वाजा हैरिस की अगुआई वाली वकीलों की टीम ने रिपोर्ट पर अपनी आपत्तियों को लेकर सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल कर दी है। अर्जी में लिखा गया है कि जांच दल की रिपोर्ट न केवल गैरकानूनी है बल्कि संविधान के भी विरुद्ध है। जांच दल की सिफारिशों की कोई कानूनी हैसियत नहीं है। ख्वाजा हैरिस ने कोर्ट से रिपोर्ट के दसवें संस्करण की प्रतिलिपि दिलवाए जाने की मांग की, जिसे जांच दल के अनुरोध पर गोपनीय रखा गया है। जांच दल ने अपनी अंतिम रिपोर्ट दस जुलाई को दाखिल की थी।

    पाकिस्तान के वित्त मंत्री इशाक डार ने जांच दल की रिपोर्ट पर अलग से अपनी आपत्ति दर्ज कराई। इससे पहले इमरान खान की पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) की ओर से अधिवक्ता नईम बोखारी ने पेश होकर जांच दल की रिपोर्ट की प्रशंसा की। कहा, इस रिपोर्ट ने सब कुछ साफ कर दिया है। उनके आरोपों को सही साबित किया है। अब सुप्रीम कोर्ट को नवाज शरीफ को संसद की सदस्यता के अयोग्य घोषित करने में देर नहीं करनी चाहिए।

    उल्लेखनीय है कि इसी मांग को लेकर पीटीआइ व अन्य दलों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है। सुनवाई के बाद पीटीआई नेता फवाद चौधरी ने कहा, प्रधानमंत्री शरीफ ने पद पर रहने का नैतिक और राजनीतिक आधार खो दिया है। वह न केवल पद के अयोग्य घोषित होंगे बल्कि जेल भी जाएंगे। देश की सूचना राज्य मंत्री मरियम औरंगजेब ने कहा है कि सरकार कोर्ट का फैसला मंजूर करेगी।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी