Naidunia
    Monday, December 11, 2017
    Previous

    आंसुओं से पैदा हो सकती है बिजली, जानिए कैसे

    Published: Tue, 10 Oct 2017 04:47 PM (IST) | Updated: Tue, 10 Oct 2017 05:15 PM (IST)
    By: Editorial Team
    electricity11 20171010 181146 10 10 2017

    लंदन। शोधकर्ता एक ऐसी तकनीक पर काम कर रहे हैं जिसके माध्यम से आंखें ऊतक उत्पन्न कर सकती हैं और मुंह के लार से बिजली पैदा की जा सकती है।

    अपने शोध में, आंसू और लार में मौजूद एक विशेष प्रोटीन ने बिजली बनाने के लिए लाइसोसिम का उपयोग किया। इस प्रोटीन को उच्च दबाव में रखने से, यह ऊर्जा उत्पन्न करेगी, जिसे ईंधन के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।

    लाइसोसिम नाम का यह प्रोटीन ओट्स, लार, दूध, अंडे में पाया जाता है, जो शरीर में मौजूद एंजाइम को तोड़ता है। यूनिवर्सिटी ऑफ लाइमरिक के शोधकर्ताओं ने पाया कि इस प्रोटीन की मदद से इलेक्ट्रिकल चार्ज भी तैयार किया जा सकता है।

    प्रोटीन की पतली परत पर, जब शोधकर्ताओं ने दोनों तरफ कांच प्लेट के माध्यम से दबाव बनाना शुरू कर दिया, तो प्लेट के बीच उत्पन्न एक तरह की ऊर्जा थी, इस प्रकार की ऊर्जा को पीजोएइलेक्ट्रिसिटी कहा जाता है।

    भौतिक विज्ञानी स्टैपलटन ने बताया कि प्रोटीन से उत्पन्न प्रोटीन जो कि घातक नहीं है क्योंकि प्रोटीन एक जैविक पदार्थ है, इसलिए यह कई तरीकों से इस्तेमाल किया जा सकता है।

    एमी स्टेपलटन मे बताया, 'जहां हमारे चारों तरफ पीजोइलेक्ट्रिसिटी का उपयोग किया जाता है, लेकिन इस विशेष प्रोटीन से बिजली उत्पन्न करने की क्षमता का पता नहीं लगा था। हालांकि, क्योंकि यह एक जैविक पदार्थ है, यह गैर-विषैले है इसलिए इसमें कई अभिनव अनुप्रयोग हो सकते हैं जैसे कि मेडिकल इम्प्लांट्स के लिए इलेक्ट्रोएक्टिव एंटी-माइक्रोबियल कोटिंग्स।'

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें