Naidunia
    Sunday, April 30, 2017
    PreviousNext

    कॉलेज में दाखिले के लिए दिया आवेदन, तो पचा चला लापता लोगों में दर्ज है उसका नाम

    Published: Tue, 14 Mar 2017 11:46 AM (IST) | Updated: Tue, 14 Mar 2017 11:51 AM (IST)
    By: Editorial Team
    missing boy 14 03 2017

    वॉशिंगटन। अलबामा में पांच साल की उम्र में जूलियन हर्नान्डेज को उसकी मां से अलग कर दिया गया था। साल 2002 में जूलियन की मां ने उसके लापता होने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। मगर, उसे खोजने की सारी कोशिशें बेकार हो गईं। उसे संदेह था कि बच्चे के पिता बॉबी हर्नांडेजेस ने नॉन-कस्टोडियल पैरेंटल एब्डेक्शन के रूप में उसका अपहरण किया था, लेकिन वह भी गायब हो गया था।

    यह जाहिर हो गया था कि बच्चे की कस्टडी को लेकर मां और पिता के बीच चल रहे विवाद के बीच हर्नांडेज ने अपने बेटे का अपहरण किया था। मगर, उसने अपने पुराने सभी बैंक खाते बंद कर दिए थे और कोई सबूत नहीं छोड़ा था, इसलिए उसे ढूंढ़ना नामुमकिन हो गया था।

    पुलिस विभाग को जूलियन की तलाश करने में 13 साल लग गए। अंत में उसके बारे में थोड़ी बहुत जानकारी उस समय सामने आई, जब 18 वर्षीय लड़के ने कॉलेज में दाखिले के लिए आवेदन किया। तब जूलियन को पता चला कि उसका सोशल सिक्योरिटी नंबर उसने नाम से मेल नहीं खाता है।

    इससे परेशान होकर जूलियन मदद के लिए अपने काउंसलर के पास गया। उन्होंने जूलियन की पृष्ठभूमि की जांच की, तो पता चला कि उसका नाम नेशनल सेंटर फॉर मिसिंग एंड एक्सप्लॉइटेड चिल्ड्रेन की लापता बच्चों की सूची में था। कुछ महीनों की जांच के बाद यह पुष्टि की गई कि जूलियन हर्नान्डेज को खोज लिया गया है।

    बच्चे के पिता बॉबी हर्नांडेज पर रिकॉर्ड के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगाया गया है। अधिकारियों का कहना है कि उन्हें अतिरिक्त आरोपों का सामना करने के लिए अलबामा वापस प्रत्यर्पित किया जाएगा। इसके तहत उसे 10 साल तक की कारावास की सजा दी जा सकती है। इसके बारे में जूलियन की मां को बता दिया गया है, जिससे वह और भी खुश है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी