Naidunia
    Friday, November 24, 2017
    PreviousNext

    जांबाज लड़की ने तोड़ी बंदिशें, बनी पाकिस्‍तान की पहली महिला बाइकर

    Published: Sun, 14 Feb 2016 03:58 PM (IST) | Updated: Sun, 14 Feb 2016 04:00 PM (IST)
    By: Editorial Team
    pakgirl 14 02 2016

    लाहौर। जेनिथ इरफान के पिता मोटरसाइकिल पर पूरी दुनिया की सैर करना चाहते थे। मगर, कम उम्र में ही उनकी मौत हो गई और साथ ही उनके सपने का भी अंत हो गया। मगर, जब यह बात उनकी बड़ी बेटी इरफान को पता चली, तो उसने पिता के सपने को पूरा करने का फैसला किया।

    लाहौर की रहने वाली 21 साल की छात्रा जेनिथ के लिए यह जोखिम भरा कदम था। मगर, जिस बहादुरी के साथ उसने इस चुनौती को स्‍वीकार किया, उसके कारण वह पिछले दो सालों में एक बेखौफ फीमेल बाइकर के रूप में उभरी है।

    रूढ़िवादी देश पाकिस्‍तान में जेनिथ ने कई बंदिशों को तोड़ते हुए बाइक पर पूरे देश की यात्रा की। मगर, यह इतना आसान नहीं था। मैं कन्फ्यूज्ड थी कि एक साथ गियर, क्लच और ब्रेक कैसे मैनेज कर पाऊंगी। मैं बहुत ज्यादा कन्फ्यूज्ड थी, लेकिन बाद में सब पर कंट्रोल कर लिया।

    जेनिथ ने बाइक से पहली यात्रा पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में की। इसके बाद पहाड़ों, नदियों से होते इस्लामाबाद के बाहरी इलाके मुरी की यात्रा की। मुरी पश्चिमी हिमालय की तलहटी दक्षिणी ढलानों पर स्थित है। यहां से इरफान पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर की राजधानी मुजफ्फराबाद गईं। इसके बाद वह उस इलाके से होते हुए नीलम घाटी के जंगलों से गुजरीं। यह बेहद खूबसूरत इलाका है।

    इन यात्राओं के बारे में उसने अपने अनुभव बताते हुए कहा कि जब मैं सड़क पर होती थी तो लगता था कि मेरे दिमाग, शरीर और आत्मा एक साथ हो रहे हैं। मैं खुद को आजाद महसूस कर रही थी। सच में बिल्कुल अलग और स्पेशल अहसास हो रहा था। बेहद भावुक और मुक्त सफर।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें