Naidunia
    Tuesday, October 17, 2017
    PreviousNext

    मां ही करवाती थी नाबालिग बेटियों का रेप, पेशाब पीने को थीं मजबूर

    Published: Thu, 07 Jan 2016 12:55 PM (IST) | Updated: Thu, 07 Jan 2016 12:56 PM (IST)
    By: Editorial Team
    sex worker cruelity urine 07 01 2016

    लंदन। ब्रिटेन के प्लायमाउथ में एक वीभत्स व दिल को दहलाने वाला मामला सामने आया है। यहां एक सेक्स वर्कर की नाबालिग बेटियों के साथ उसके कस्टमर्स व बॉयफ्रेंड लगातार रेप करते रहे और वह इससे बिल्कुल बेपरवाह बनी रही। बताया जा रहा है कि बेटियों के साथ कस्टमर्स व बॉयफ्रेंड द्वारा रेप को सेक्स वर्कर की भी सहमति थी।

    मां द्वारा अपनी बेटियों के साथ क्रूरता का अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि वह उन्हें अकसर बांस के डंडों व बेल्ट से मारती थी। कई दिनों तक बेडरूम में बिना खाना-पानी के बंद रखती थी। जब उन्हें भूख लगती थी तब वे बिल्ली का खाना खाने व अपनी प्यास बुझाने के लिए खुद का ही पेशाब पीने को मजबूर थीं।

    इस मामले की सुनवाई प्लायमाउथ क्राउन कोर्ट में हुई। कोर्ट ने मामले में दोषी मानते हुए सेक्स वर्कर मां को पांच साल जेल की सजा सुनाई है। कानूनी कारणों के कारण मां के नाम का खुलासा नहीं हुआ है। आपको बता दें कि पीड़िताओं में से एक अब व्यस्क हो चुकी है। उसने सात साल की उम्र में आत्महत्या करने की कोशिश की थी।

    'द टेलिग्राफ' में छपी रिपोर्ट के अनुसार, सेक्स वर्कर मां को 1976 से 1988 के बीच बेटियों के साथ क्रूरतापूर्ण व्यवहार के आठ मामलों में दोषी पाया गया है। बताया जा रहा है कि तीनों बच्चियां प्राइमरी स्कूल की उम्र में थीं, तब उनकी हैवान मां ने अपने कस्टमर्स व बॉयफ्रेंड को उनके साथ यौन संसर्ग करने की इजाजत दे दी थी।

    इस मामले का खुलासा 2014 में तब हुआ जब उसके चंगुल से बच निकली एक बेटी पुलिस स्टेशन पहुंचने में कामयाब रही और उसने पुलिस अधिकारियों के सामने सारा मामला खोलकर रख दिया। सबसे बड़ी बेटी ने कोर्ट में कहा, 'जब घर में ग्राहक आते थे तो हमें बेडरूम में लॉक कर दिया जाता था। हमलोग बाल्टी में पेशाब करते थे। हमलोग यहां लंबे समय तक कैद रहे। कई बार तो हमने अपना ही पेशाब पिया।'

    बीच वाली बेटी ने अदालत को बताया कि उसे बेडरूम में बंद कर दिया जाता था, जहां वह लंबे समय तक कैद रही। उसे दिन-रात का पता ही नहीं चल पाता था। उसे और उसकी बहनों को टॉयलेट के लिए एक बाल्टी दी गई थी। पीने का पानी नहीं था और प्यास लगने पर उन्हें अपना ही मूत्र पीने को मजबूर थीं। अकसर उन्हें मारने-पीटने के लिए बांस के डंडे व बेल्ट का इस्तेमाल किया जाता था।

    सुनवाई के दौरान जज भी मामले की वीभत्सता से दहल गए और उन्होंने कहा, 'माफ कीजिएगा, इसे मैं बच्चों के साथ क्रूरता या यौन छेड़छाड़ नहीं कह सकता। यह मामला इससे बहुत आगे का है।'

    रिकॉर्डर स्टीफन पैरिश ने उस मां से कहा, 'तुम कई लोगों के साथ सेक्शुअल संबंध बना इंजॉय करती थी। इनमें से कई लोग तुम्हें पैसे देते होंगे। तुम्हारे बेटियों के साथ जो हो रहा था उसे तुमने भले प्रोत्साहित नहीं किया लेकिन तुमने अपनी आखें बंद रखीं।'

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें