Naidunia
    Monday, October 23, 2017
    PreviousNext

    भविष्‍य में आसमान में उड़ती नजर आएगी सेल्‍फ फ्लाइंग टेक्‍सी

    Published: Sat, 05 Nov 2016 03:12 PM (IST) | Updated: Sat, 05 Nov 2016 03:16 PM (IST)
    By: Editorial Team
    selfflying 05 11 2016

    दुनिया के सबसे बड़े तकनीक दिग्‍गजों में से कुछ हमेशा नया करने की तलाश में रहते हैं। अब वे एक फ्ला‍इंग मशीन बनाने पर फोकस कर रहे हैं जो कि एयर टेक्‍सी से अलग होगी और हेलीकॉप्‍टर के समान होगी।

    उबर और गूगल पहले ही अगले कुछ सालों में इसके लिए तैयार हैं और अब इसमें एयरबस ग्रुप भी शामिल हो गया है जो कि यूएस में फेडरल एविएशन एडमिनिस्‍ट्रेशन के साथ करीबी रूप से काम करने के लिए जाना जाता है। उनके इस प्रोजेक्‍ट का नाम है वाहन जो कि एयरबस के सिलिकॉन वैली से ऑपरेट होगा।

    हाइब्रिड कारों या कारों का उड़ना खबर नहीं है। लेकिन इस बात अलग यह है कि एयरबस ऐसी मशीन बनाने की योजना बना हरी है जो कि वर्टिकल टेक-ऑफ और लैंड‍िंग गया वीटीओरए एयरक्राफ्ट के मॉडल पर आधारित है। संक्षेप में यह कार बनाने के बारे में नहीं है बल्कि एक हेलीकॉप्‍टर के बारे में है जिसका कमर्श‍ियल व पर्सनल यूज हो सकता है।

    VIDEO: ट्रेन में स्‍टंट के दौरान गई जान, दोस्‍त बना रहा था वीडियो

    यानी कि यह एयरक्राफ्ट बिना रनवे के काम कर सकता है। इसका टेक-ऑफ या लैंडिंग हेलीकॉप्‍टर की तरह ही हो जिसमें यह तथ्‍य विशेष रूप से हो कि हर पहिए में आठ रोटार हो। इसके अत‍ि‍रिक्‍त यह मशील इलेक्‍ट्रीक होगी जो कि सिंगल पैसेंजर के लिए होगी और पूरी तरह से सेल्‍फ फ्लाइंग होगी।

    इस प्रोजेक्‍ट की देखरेख कर रहे जैक लवरिंग के मुताबिक यह मशीन शहर के आकार और व्‍यास को जानती होगी और कारों से दो गुनी तेज होगी।

    एयरबस के सीईओ टॉम एंडर्स ने कहा ' इसमें कोई पागलपन नहीं है इस बात की कल्‍पना करना कि एक दिन हमारे बड़े शहरों में फ्लाइंग कार होगी। इसका भविष्‍य दूर नहीं है।

    हम हमारे स्‍मार्टफोन के जरिए पूरी तरह से ऑटोमेटेड फ्लाइंग टैक्‍सी बुक कर सकेंगे और वह बिना पायलट के होगी, आपके घर के दरवाजे पर आपका इंतजार करेगी।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें