Naidunia
    Friday, November 24, 2017
    PreviousNext

    महिलाओं में घातक एलर्जी के लिए सेक्स हार्मोन जिम्मेदार

    Published: Tue, 30 Dec 2014 11:22 PM (IST) | Updated: Tue, 30 Dec 2014 11:24 PM (IST)
    By: Editorial Team
    woman-allergy 30 12 2014

    लंदन। एक नए अध्ययन से पता चला है कि सेक्स हार्मोन "एस्ट्रोजन" के कारण महिलाओं में घातक एलर्जी का खतरा ज्यादा होता है। शोधकर्ताओं के अनुसार यही कारण है कि गंभीर समस्याओं के कारण अस्पताल में दाखिल होने वाले पुरुषों की संख्या महिलाओं के मुकाबले कम होती है।

    अमेरिका के एलर्जी और संक्रामक रोग राष्ट्रीय संस्थान के शोधकर्ताओं ने चूहों पर शोध के दौरान इसका पता लगाया। शोध से पता चला कि "एस्ट्रोडियल" (एस्ट्रोजन का एक प्रकार) घातक एलर्जी पैदा करने वाले रसायनों को बढ़ाने के लिए जिम्मेदार है।

    ऊतकों में सूजन

    टेलीग्राफ के अनुसार जब लोग भोजन, दवा या कीड़े के डंक और काटने से शुरू होने वाली एलर्जी "तीव्रग्राहिता" से पीड़ित होते हैं तो प्रतिरक्षा कोशिकाएं एंजाइम छोड़ती हैं। इसके कारण ऊतक सूज जाते हैं और रक्त वाहिकाएं चौड़ी हो जाती है। हालांकि आमतौर पर एलर्जी निस्तब्धता या त्वचा पर लाल चकते के कारण होती है। चरम मामलों में सूजन हृदयाघात का कारण भी बन सकता है।

    क्या करता है एस्ट्रोजन?

    अध्ययन के दौरान मादा चूहों में ज्यादा गंभीर समस्याएं और पुरुषों के मुकाबले ज्यादा स्थायी "तीव्रग्राहिता" प्रतिक्रिया देखी गई। एस्ट्रोजन रक्त वाहिकाओं को प्रभावित करता है और तीव्रग्राहिता के लक्षणों का कारण बनने वाले एक एंजाइम "एन्दोथेलिकल नाइट्रिक ऑक्साइड सिन्थेज" का स्तर और गतिविधि बढ़ा देती है।

    ...तो समाप्त हो गया फर्क

    अध्ययन के दौरान जब मादा चूहों में एन्दोथेलिकल नाइट्रिक ऑक्साइड सिन्थेज की गतिविधियां बंद कर दी गई तो लिंग का अंतर समाप्त हो गया। इसके बाद मादा चूहों में भी एलर्जी की प्रतिक्रिया का स्तर पुरुषों जैसा ही देखा गया। यह अध्ययन एलर्जी एंड क्लीनिकल इम्यूनॉलॉजी जर्नल में प्रकाशित किया गया है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें