Naidunia
    Wednesday, May 24, 2017
    PreviousNext

    महिलाओं के इस अंग को घूरने वाले रहते हैं ज्यादा दिनों तक जिंदाः स्टडी

    Published: Thu, 29 Dec 2016 08:14 AM (IST) | Updated: Thu, 29 Dec 2016 02:08 PM (IST)
    By: Editorial Team
    staring breasts men life 29 12 2016टीवी सीरिज 2 ब्रोक गर्ल्स की तस्वीर

    लंदन। महिलाओं के सीने को लगातार घूरने वाले मर्द स्वस्थ व ज्यादा दिनों तक जिंदा रहते हैं। एक अध्ययन में इसका खुलासा किया गया है। यह रिसर्च 18 साल से लेकर 26 साल तक के युवाओं पर लगातार पांच साल तक किया गया और इसमें 500 पुरुषों को शामिल किया गया।

    रिसर्च में पाया गया है कि ऐसे पुरुष जो महिलाओं के उभारों को घूरते हैं, उनकी आयु 4 से 6 साल तक बढ़ जाती है। हालांकि इस परिणाम का कोई वैज्ञानिक आधार नहीं पाया गया है, लेकिन रिसर्चकर्ताओं ने जिन 500 पुरुषों पर अध्ययन किया, उनमें से 100 लोगों को महिलाओं के स्तनों को घूरने के लिए कहा गया।

    शोधकर्ताओं ने ऐसे लोगों पर लगातार पांच साल तक किए गए अध्ययन में पाया कि ऐसे लोगों का ब्लड प्रेशर कम, रक्त संचार अच्छा और ब्लड क्लोटिंग की संभावना भी कम पाई गई। वहीं ऐसे युवा जिन्होंने महिलाओं को घूरने से परहेज किया उनमें हाइपरटेंशन और दिल के दौरे का खतरा ज्यादा पाया गया। साथ ही साथ ही कैंसर होने की संभावना भी ज्यादा दिखी। रिसर्च में पाया गया कि इससे उनकी उम्र करीब 5 साल घटती दिखी।

    तो इस तरह 14 सेकेंड घूरने से हो सकती है मुसीबत भी

    महिलाओं को घूरने की बात चल रही है तो यहां आपको सावधान रहने की भी जरूरत है क्योंकि यदि आपने 14 सेकेंड से ज्यादा किसी महिला को घूरा तो आप मुसीबत में भी पड़ सकते हैं। केरल में भी कुछ ऐसा ही हुआ था। केरल के सीनियर आईपीएस अधिकार रिषीराज सिंह ने कहा था कि अगर कोई पुरुष किसी महिला को 14 सेकेंड तक घूरता है तो उसे जेल भी जाना पड़ सकता है।

    हालांकि, बाद में उन्होंने स्पष्ट किया था कि समय से इसका कोई लेना-देना नहीं, सिर्फ ये है कि अगर किसी पुरुष की ऐसी हरकतों से महिला असहज होती है और पुलिस में शिकायत करती है तो उसके खिलाफ कानून में सख्त सजा है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी