Naidunia
    Wednesday, March 29, 2017
    PreviousNext

    अमेरिका में 1.7 करोड़ रुपये का भुगतान करेंगे भारतीय मूल के डॉक्टर

    Published: Tue, 10 Jan 2017 08:04 PM (IST) | Updated: Tue, 10 Jan 2017 08:10 PM (IST)
    By: Editorial Team
    img-forgery-fraud 2017110 20109 10 01 2017

    न्यूयार्क। जालसाजी के एक मामले में भारतीय मूल के चिकित्सक को 250000 डॉलर (1 करोड़ 70 लाख 36 हजार 655 रुपये) का भुगतान करना होगा।

    भारतीय मूल के डॉक्टर सहित पांच अन्य फिजीशियन भुगतान करने पर राजी हो गए हैं। पीड्रिएटिक डेंटल सेवा पेश नहीं करने और गरीब बच्चों की मदद के लिए सरकारी कार्यक्रम में झूठा दावा करने के लिए सभी डॉक्टरों को जुर्माना भरना पड़ रहा है।

    समझौते के तहत अखिल रेड्डी, क्रिस्टोफर स्टीवेन विलानुएवा, तुंग मिन्ह तांग, मारिसियो डार्डानो, गैब्रिएल शाहवान में से हर एक को 250000 डॉलर भुगतान करना पड़ेगा।

    ये सभी अपने खिलाफ सरकारी दावे का निपटान करने के लिए यह भुगतान करेंगे। अमेरिकी न्याय विभाग ने कहा है कि ये लोग इस समझौते में शामिल एमबी2 और डेंटल प्रैक्टिस के जिम्मेवार या आंशिक जिम्मेवार हैं।

    एमबी2 के प्रमुख फ्रैंक विलानुएवा को अपने निजी दायित्व का समाधान करने के लिए 100,000 डॉलर (68 लाख 17 हजार 26 रुपये) का भुगतान करना होगा।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी