Naidunia
    Monday, March 27, 2017
    PreviousNext

    पचास हजार लापता फारसी सैनिकों का रहस्य सुलझा

    Published: Sun, 22 Jun 2014 05:33 PM (IST) | Updated: Sun, 22 Jun 2014 05:36 PM (IST)
    By: Editorial Team
    deserts 22 06 2014

    लंदन। शोधकर्ताओं ने दुनिया के सबसे बड़े पुरातात्विक रहस्यों में से एक मिस्र के रेगिस्तान में ईसा पूर्व 524 में लापता हुए फारसी सेना के 50 हजार सैनिकों के रहस्य को सुलझा दिया है। यूनानी इतिहासकार हेरोडोटस के अनुसार, फारसी नरेश कम्बुजीय ने 50 हजार पुरुषों के साथ मिस्र के रेगिस्तान में लक्सर (तब के थेबेस) के समीप प्रवेश किया था। इसके बाद सेना कभी नहीं लौटी। रेत की आंधी में ही दफन हो गई।

    नीदरलैंड की लीडेन यूनिवर्सिटी के ओलाफ कापेर ने बताया कि 19वीं सदी से इस सेना की खोज कुछ लोग और पेशेवर पुरातत्वविद शौकिया कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कुछ को जमीन के अंदर कहीं साजोसामान के साथ पूरी सेना के मिलने की उम्मीद है। हालांकि लंबे अनुभवों से यह पता चलता है कि रेतीली आंधी से आपकी मौत नहीं हो सकती है लेकिन अकेले की बातें छोड़िए एक पूरी सेना गायब हो गई। कापेर ने अब एक अलग तरह से इसका वर्णन किया है। उन्होंने तर्क दिया कि सेना लापता नहीं हुई बल्कि हार गई थी।

    कापेर ने कहा कि मेरे अनुसंधान से पता चलता है कि सेना बेवजह रेगिस्तान से गुजर नहीं रही थी, उसका अंतिम गंतव्य दचला ओसीस था। यह मिस्र के बागी नेता पेटुबास्टिस तृतीय के सैनिकों का ठिकाना था। उन्होंने कम्बुजीय की सेना पर घात लगाकर अचानक धावा बोला था और इस तरह उन्होंने ओसीस में अपने ठिकाने से मिस्र के बड़े हिस्से को फिर से जीत लिया था।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी