Naidunia
    Monday, November 20, 2017
    PreviousNext

    अब लैपटॉप, कैमरा लेकर अमेरिका में नहीं कर पाएंगे प्रवेश

    Published: Tue, 21 Mar 2017 11:27 AM (IST) | Updated: Tue, 21 Mar 2017 07:19 PM (IST)
    By: Editorial Team
    laptop us visit 2017321 142610 21 03 2017

    वाशिंगटन। अमेरिका में छह मुस्लिम देशों के नागरिकों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने के बाद ट्रंप प्रशासन ने नया फरमान जारी किया है। उसने मिस्र, तुर्की और सऊदी अरब समेत मध्य पूर्व व अफ्रीका के आठ मुस्लिम देशों से आने वाले कुछ विमानों में यात्रियों के इलेक्ट्रानिक सामान के साथ सफर करने पर प्रतिबंध लगा दिया है।

    इन देशों से अमेरिका की यात्रा करने वाले लोग अब लैपटॉप, आइपैड, कैमरा आदि लेकर सफर नहीं कर सकेंगे। यह प्रतिबंध आतंकी हमलों से जुड़ी अमेरिकी चिंताओं को लेकर लगाया गया है।

    नए प्रतिबंध पर अधिकारियों ने कोई टिप्पणी नहीं की है। इस नए आदेश का पता सोमवार को रॉयल जार्डन एयरलाइंस और सऊदी अरब की न्यूज एजेंसी की ओर से जारी बयानों से लगा है। एक अमेरिकी अधिकारी ने बताया कि यह प्रतिबंध दस इंटरनेशन एयरपोर्ट से सीधे अमेरिका आने वाले विमानों पर लागू होगा।

    प्रतिबंध अनिश्चितकाल के लिए है। रॉयल जार्डन एयरलाइंस ने बताया कि सेलफोन और मेडिकल डिवाइसों को प्रतिबंध से बाहर रखा गया है। इलेक्ट्रानिक सामान पर रोक लगने से उसकी न्यूयॉर्क, शिकागो, डेट्राइट और मांट्रियल की उड़ानों पर असर पड़ेगा।

    छह मुस्लिम देशों के लोगों के अमेरिका में प्रवेश पर पहले से ही प्रतिबंध लगा हुआ है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जनवरी में सत्ता संभालने के बाद सात देशों पर प्रतिबंध लगाया था। लेकिन संशोधित आदेश में इराक को बाहर कर सूडान, सीरिया, ईरान, लीबिया, सोमालिया और यमन के लोगों पर यात्रा प्रतिबंध जारी रखा है।

    इन देशों पर पड़ेगा असर

    दस इंटरनेशनल एयरपोर्ट में मिस्र का काइरो, जार्डन में अम्मान, कुवैत में कुवैत सिटी, मोरक्को का कैसाब्लांका, कतर में दोहा, सऊदी अरब में रियाद व जेद्दा तुर्की में इस्तांबुल और संयुक्त अरब अमीरात में अबु धाबी व दुबई शामिल हैं।

    ये एयरलाइंस होंगी प्रभावित

    एक दूसरे अमेरिकी अधिकारी ने बताया कि प्रतिबंध के चलते नौ एयरलाइंस कंपनियों इजिप्टएयर, अमीरात एयरलाइन, एत्तिहाद एयरवेज, कुवैत एयरवेज, कतर एयरवेज, रॉयल एयर मोरक्को, रॉयल जार्डन एयरलाइंस, सऊदी अरब एयरलाइंस और तुर्की एयरलाइंस पर असर पड़ेगा। इसके चलते उनकी 50 से अधिक उड़ाने प्रभावित होंगी।

    आतंकी हमले की आशंका

    विमानन सुरक्षा विशेषज्ञ ब्रायन जेनकींस ने कहा कि नए सुरक्षा उपायों से लगता है कि यह कदम आतंकी हमले की आशंका के चलते उठाया गया है। खुफिया एजेंसियों ने आशंका जताई है कि आतंकी इलेक्ट्रानिक उपकरणों में बम छुपाकर यात्री विमानों को निशाना बना सकते हैं।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें