Naidunia
    Monday, October 23, 2017
    PreviousNext

    ओबामाकेयर वापस लेने के प्रस्ताव को संसद की मंजूरी

    Published: Sat, 14 Jan 2017 06:51 PM (IST) | Updated: Sat, 14 Jan 2017 06:54 PM (IST)
    By: Editorial Team
    end of obamacare 14 01 2017

    वाशिंगटन। राष्ट्रपति बराक ओबामा के व्हाइट हाउस छोड़ने से पहले ही उनकी सरकार की ओर से लाए गए ऐतिहासिक स्वास्थ्य बीमा कानून को रद करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। सीनेट के बाद अब प्रतिनिधि सभा ने भी ओबामाकेयर के नाम से मशहूर अफोर्डेबल हेल्थ एक्ट (2010) को हटाने की प्रक्रिया से जुड़े प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इसका स्वागत किया है।

    प्रतिनिधि सभा में 227 सदस्यों ने प्रस्ताव के पक्ष में और 198 ने विरोध में मतदान किया। प्रतिनिध सभा के सभी डेमोक्रेट सांसदों ने प्रस्ताव के विरोध में मतदान किया। नौ रिपब्लिकन सदस्यों ने भी इस कदम का विरोध किया है। सीनेट गुरुवार को इसे पहले ही पारित कर चुकी है। अब विशेष समिति इससे जुड़े विधेयक का मसौदा तैयार करेगी। पूरी प्रक्रिया को 27 जनवरी तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

    रिपब्लिकन पार्टी शुरुआत से ही इस कानून का विरोध करती रही है। ट्रंप ने चुनाव प्रचार के दौरान इस कानून को हटाने का वादा किया था। आंतरिक संसदीय बजट प्रक्रिया होने के चलते प्रस्ताव पर राष्ट्रपति की स्वीकृति की जरूरत नहीं है। दोनों सदनों द्वारा पारित होने के बाद विधेयक पर राष्ट्रपति का मुहर जरूरी होगा। तब तक डोनाल्ड ट्रंप औपचारिक तौर पर अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति बन जाएंगे। पिछले कुछ वर्षों में इस कानून को वापस लेने के प्रस्ताव पर सदन में 60 से ज्यादा बार मतदान हो चुके हैं। ओबामा द्वारा विधेयक पर हस्ताक्षर नहीं करने के चलते इसे वापस नहीं लिया जा सका।

    प्रतिनिधि सभा के अध्यक्ष और रिपब्लिकन नेता पॉल रेयॉन ने कहा कि ओबामाकेयर महत्वहीन होता जा रहा था, जिसके कारण अविलंब कदम उठाना जरूरी हो गया था। डेमोक्रेटिक नेता नैंसी पेलोसी ने इस दावे को खारिज करते हुए कहा कि इस कानून के कारण ही देश के स्वास्थ्य सेवा खर्च में जबरदस्त कमी आई है। राष्ट्रपति ओबामा के जबरदस्त प्रयासों के चलते बीमा विधेयक को कानून बनाया जा सका था।

    क्या है ओबामाकेयर

    ओबामाकेयर स्वास्थ्य बीमा कानून है। इसके तहत वे लोग लाभान्वित हो रहे हैं, जिनका स्वास्थ्य बीमा नहीं हुआ है या आर्थिक वजहों से वे बीमा नहीं करा पाए हैं। सरकार इस कानून के जरिये प्रीमियम भुगतान में सब्सिडी देती है। इससे तकरीबन दो करोड़ अमेरिकी लाभान्वित हो रहे हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि कानून वापस लेने से बीमा बाजार में उथल-पुथल की स्थिति पैदा हो जाएगी। साथ ही पुख्ता विकल्प की व्यवस्था करने की भी बात कही जा रही है। सबसे बड़ा सवाल उन दो करोड़ लोगों का है जो इसका लाभ ले रहे हैं। बजट समिति के आकलन के मुताबिक कानून रद होने से अगले दस वर्षों में तकरीबन 350 अरब डॉलर (23.84 लाख करोड़ रुपये) का नुकसान हो सकता है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें