Naidunia
    Thursday, July 20, 2017
    PreviousNext

    OMG! योगा के नाम पर class में ये क्‍या चल रहा था

    Published: Sat, 14 Jan 2017 05:59 PM (IST) | Updated: Sat, 14 Jan 2017 06:32 PM (IST)
    By: Editorial Team
    russian yoga teacher 2017114 183256 14 01 2017

    मल्‍टीमीडिया डेस्‍क। एक रशियन योगा टीचर को कथित तौर पर "अवैध मिशनरी गतिविधि" के लिए गिरफ्तार किया गया है। उसे आतंक रोधी नए विवादित कानून के तहत गिरफ्तार किया गया है।

    बताया जाता है कि दर्मिती उगे देश के आतंकरोधी मापदंडों के प्रतिकूल पाए गए हैं। उनके साथी नील नसीबुलीन ने उन पर आरोप लगाया था कि वे छदम हिंदू संगठन चलाने के लिए युवाओं की नियुक्ति कर रहे थे।

    44 साल के इस व्‍यक्ति का कहना है कि उन्‍हें पुलिस द्वारा एक कार में दबावपूर्वक एक कोरे कागज पर साइन करने को कहा गया। दो महीने बाद उन्‍हें रिहा कर दिया गया। उन पर कोर्ट ने जुर्माना लगाया है।

    उगे स्‍वीकारते हैं कि वे कर्मठता के साथ हिंदुत्‍व का पालन करते हैं एवं दूसरे दावों को खारिज करते हैं। उनका कहना है कि मैंने कभी अपने भाषणों में किसी भी धर्म के बारे में कुछ नहीं कहा। ना किसी का नाम लिया।

    ना ही किसी धार्मिक पुस्‍तक का हवाला दिया और ना कभी ईसाई या बुद्ध धर्म के किसी धार्मिक व्‍यक्ति का नाम लिया। उनकी गिरफ्तारी के बाद रशिया में नई चिंता ने रूप ले लिया है।

    आतंक रोधी गतिविधियों की निगरानी करने वाले मॉस्‍को स्थित सोवा सेंटर के मुखिया अलेक्‍सांद्र वर्खोवस्‍की ने कहा कि यह बेहद हैरतअंगेज है कि मैदानी अमले की पुलिस ने इस बारे में कुछ नहीं किया।

    चूंकि हर चीज के पीछे कानून होता है और उसका पालन होता है इसलिए शब्दों की मूर्खता के चलते इनका पालन नहीं किया जा सकता।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी