नई दिल्ली। हार्ले डेविडसन और ट्रायंफ जैसी महंगे ब्रैंड की आयातित मोटरसाइकिलें सस्ती होने जा रही हैं। सरकार ने इन पर कस्टम ड्यूटी घटाकर 50 प्रतिशत कर दी है। इससे भारतीय बाजार में हार्ले डेविडसन और ट्रायंफ जैसी प्रीमियम विदेशी बाइक की कीमत में खासी कमी आने वाली है।

अब तक 800 सीसी या इससे कम इंजन क्षमता वाली मोटरसाइकिल के आयात पर 60 प्रतिशत शुल्क लगता था। वहीं 800 सीसी और इससे अधिक इंजन क्षमता वाले इंजन पर 75 प्रतिशत शुल्क लगता है।

केंद्रीय उत्पाद व सीमा शुल्क बोर्ड सीबीईसी ने एक अधिसूचना में इन दोनों श्रेणी के मोटरसाइकिल के लिए आयात शुल्क को घटाकर 50 प्रतिशत कर दिया है। यह दर उन बाइकों पर लागू होगी, जिनका आयात सीबीयू के रूप में किया जाता है।

आयात शुल्क दरों में यह बदलाव उद्योग की मांग को देखते हुए किया गया है। इस तरह की महंगी बाइकें फिलहाल भारत में नहीं बनती हैं।

हालांकि मेक इन इंडिया योजना के तहत स्थानीय स्तर पर विदेशी बाइक्स के कल-पुर्जों के उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने अलग-अलग पुर्जों के रूप में आयात होने वाले इंजन, ट्रांसमिशन या गियरबॉक्स सिस्टम के आयात शुल्क को मौजूदा 10 फीसद से बढ़ाकर 15 फीसद कर दिया है।