लंदन। टाटा मोटर्स की कंपनी जैगुआर लैंड रोवर (जेएलआर) ने ब्रिटेन में स्वेच्छा से करीब 44,000 कारें रिकॉल की हैं। इन कारों में प्रमाणित स्तर से अधिक कार्बन डाईऑक्साइड (सीओ2) उत्सर्जन होने के कारण इनके रिकॉल की घोषणा की गई है। नियामक ने अपनी जांच में पाया कि कंपनी के 10 मॉडलों में उनके लिए प्रमाणित शुरुआती स्तर से अधिक ग्रीनहाउस गैस का उत्सर्जन होता है। इसके बाद ब्रिटेन की लक्जरी कार निर्माता कंपनी ने गुरुवार को कहा कि वह प्रभावित कारों के मालिकों से संपर्क करेगी और बिना किसी शुल्क के इन कारों की खराबी ठीक करेगी।

जेएलआर ने अपने बयान में कहा कि दो लीटर डीजल और पेट्रोल इंजन वाले उसके कुछ निश्चित मॉडलों में सीओ2 प्रदर्शन में गड़बड़ी का पता चलने के बाद कंपनी स्वेच्छा से इन कारों का रिकॉल कर रही है। प्रभावित वाहनों की खराबी को बिना किसी शुल्क के ठीक किया जाएगा और इस प्रक्रिया में ग्राहकों की सुविधा का पूरा ध्यान रखा जाएगा।

मरम्मत के तहत सॉफ्टवेयर को अपडेट किया जा सकता है। कारों की संरचना में कुछ बदलाव किया जा सकता है। इसके साथ ही कुछ रेंज रोवर इवोक मॉडलों में नए टायर लगाने की भी जरूरत पड़ सकती है।

ब्रिटेन की व्हीकल सर्टिफिकेशन एजेंसी ने अपनी जांच में पाया कि लैंड रोवर और जैगुआर ब्रांड के 10 मॉडलों में उनके लिए प्रमाणित शुरुआती सीमा से अधिक ग्रीनहाउस गैस का उत्सर्जन होता है। इसके बाद जेएलआर ने इस तरह के मामलों में रिकॉल प्रक्रिया को अंजाम देने वाली एजेंसी ड्राइवर एंड व्हीकल स्टैंडर्ड्स एजेंसी (डीवीएसए) से संपर्क किया।