नई दिल्ली। मर्सिडीज बेंज चाइना और बीजिंग बेंज ऑटोमोटिव ने 20,779 वाहनों को रिकॉल किया है। कंपनी इन वाहनों को 9 मार्च से बुलाना शुरू करेगी। क्वालिटी कंट्रोल बॉडी के मुताबिक इन वाहनों को सीट बेल्ट में आई खराबी के चलते रिकॉल किया गया है।

बीजिंग बेंज ऑटोमोटिव ने C और GLC वाहनों की 18,893 यूनिट्स को रिकॉल किया है। इन्हें अक्टूबर 2016 और फरवरी 2017 के बीच बनाया गया है। यह जानकारी चीन के गुणवत्ता पर्यवेक्षण, निरीक्षण और संगरोध के सामान्य प्रशासन ने बुधवार को दी है।

न्यूज एजेंसी सिंहुआ के मुताबिक मर्सिडीज बेंज चीन ने इम्पोर्ट की गई क्लास S, क्लास C और GLC स्पोर्ट्स व्हीकल्स की 1,886 यूनिट्स को रिकॉल किया है। इन वाहनों को जुलाई 2016 और दिसंबर 2016 के बीच बनाया गया है।

चीनी अधिकारियों ने बताया कि डिफेक्टिव सीट बेल्ट्स दुर्घटना की स्थिति में काम नहीं कर पा रही हैं और इससे सुरक्षा काफी खतरे में है। यह रिकॉल 9 मार्च से शुरू कर दिया जाएगा और कार निर्माता कंपनी डिफेक्टिव पार्ट्स को फ्री ऑफ कॉस्ट ठीक करेगी।

अमेरिका में हुआ इतिहास का सबसे बड़ा रिकॉल -

दिसंबर महीने में टकाटा के 33 लाख फॉल्टी एयर बैग इन्फलेटर्स में आई खराबी के चलते अमेरिका के इतिहास में ऑटो इंडस्ट्री मे सबसे बड़ा रिकॉल किया गया। जिसमें 19 कार कंपनियों के 420 लाख वाहनों में 690 लाख इनफ्लेटर्स में खराबी आई है।

टकाटा इनफ्लेटर्स काफी तेजी से खुलने के चलते फट रहे थे जिसके चलते वाहनों में बैठे यात्रियों की जान का खतरा बढ़ रहा था। टकाटा इनफ्लेटर्स के चलते दुनियाभर में करीब 20 लोगों की मृत्यु हो गई और 280 से ज्यादा लोग घायल हो गए।