हस्टन। भारतीय मूल की अमेरिकी महिला दिव्या सूर्यदेवरा अमेरिका की सबसे बड़ी वाहन कंपनी जनरल मोटर्स (जीएम) की मुख्य वित्तीय अधिकारी (सीएफओ) पद पर नियुक्त पहली महिला बन गई हैं। वे इस वर्ष पहली सितंबर से अपना कार्यभार संभालेंगी और जनरल मोटर्स की मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) मैरी बर्रा को रिपोर्ट करेंगी। इसके साथ ही जनरल मोटर्स दुनिया की पहली ऑटो कंपनी बन गई है, जिसके सीईओ और सीएफओ पदों की कमान महिलाओं के हाथ में है।

भारत में जन्मी और पली-बढ़ी 39 वर्षीय सूर्यदेवरा ने मद्रास विश्विद्यालय से कॉमर्स में स्नातक की डिग्री ली है। वह 22 साल की उम्र में वे आगे की पढ़ाई के लिए अमेरिका की हार्वर्ड यूनिवर्सिटी चली गईं। वहां से उन्होंने एमबीए की डिग्री ली और इंवेस्टमेंट बैंक यूबीएस में पहली नौकरी की।

इसके एक साल बाद 25 साल की उम्र में वे जनरल मोटर्स से जुड़ीं। सूर्यदेवरा को 2016 में ऑटोमोटिव क्षेत्र की "राइजिंग स्टार" का खिताब मिला। पिछले साल 40 वर्ष से कम उम्र की कैटेगरी में सूर्यदेवरा को डेट्रॉयट बिजनेस-40 में नामित किया गया।

जनरल मोटर्स ने अपने एक बयान में कहा कि कंपनी की मौजूदा वाइस प्रेसिडेंट (कॉरपोरेट फाइनेंस) सूर्यदेवरा पहली सितंबर को चक स्टीवंस की जगह लेंगी। बर्रा और सूर्यदेवरा वाहन उद्योग में शीर्ष पदों पर पहुंचने वाली पहली महिलाओं में शामिल हैं।

कू्रज के अधिग्रहण में भूमिका

सूर्यदेवरा ने इस महीने की शुरआत में जापान के सॉफ्टबैंक ग्रुप कॉर्प द्वारा जनरल मोटर्स कू्रज में 2.25 अरब डॉलर के निवेश को सुरक्षित रखने में प्रमुख भूमिका निभाई थी। उन्होंने सेल्फ ड्राइविंग वाहन स्टार्टअप कू्रज के अधिग्रहण समेत कई महत्वपूर्ण सौदों में बड़ी भूमिका निभाई।

काम की तारीफ

जनरल मोटर्स की सीईओ मैरी बर्रा ने कहा, "हमारे वित्तीय परिचालन में सूर्यदेवरा ने कई महत्वपूर्ण भूमिकाएं निभाई हैं। उनके अनुभव और नेतृृत्व ने पिछले कई वर्षों से हमें मजबूत व्यापारिक नतीजे दिए हैं।