नई दिल्ली। महंगाई के मामले में मुश्किलें बढ़ी हैं। अगस्त में थोक भाव के हिसाब से महंगाई दर बढ़कर पिछले 2 साल के सबसे ऊंचे स्तर 3.74 फीसदी पर पहुंच गई, जो जुलाई में 3.55 फीसदी थी। जून के लिए थोक महंगाई दर 1.62 से संशोधित होकर 2.12 फीसदी हो गई थी।

माह दर माह आधार पर अगस्त में खाने-पीने की चीजों की महंगाई दर 11.82 से घटकर 8.23 फीसदी रह गई। इस दौरान प्राइमरी आर्टिकल्स की महंगाई दर 9.38 से घटकर 7.47 फीसदी रह गई। दालों की महंगाई दर 35.76 से घटकर 34.55 फीसदी और सब्जियों की 28.05 से घटकर महज 0.17 फीसदी रह गई।

माह दर माह आधार पर अगस्त में अनाज की थोक महंगाई दर 7.03 से बढ़कर 7.23 फीसदी हो गई। लेकिन, इस दौरान फलों की महंगाई दर 17.3 से कम होकर 13.91 फीसदी रह गई। दूसरी तरफ अंडे, मांस और मछली की महंगाई दर 7.49 से बढ़कर 8.75 फीसदी हो गई। थोक में ईंधन की महंगाई दर (-)1 से बढ़कर 1.62 फीसदी हो गई। कारखानों में तैयार चीजों की महंगाई दर भी 1.82 से बढ़कर 2.42 फीसदी हो गई।