नई दिल्ली। वित्त वर्ष 2016-17 में इंडियन ऑयल, ओएनजीसी और कोल इंडिया सबसे अधिक मुनाफा कमाने वाले केंद्रीय सार्वजनिक उपक्रम (पीएसयू) रहे। इसके विपरीत दोनों सरकारी दूरसंचार उपक्रमों बीएसएनएल और एमटीएनएल तथा सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया ने सबसे अधिक घाटा दर्ज किया। इस अवधि में सभी सार्वजनिक उपक्रमों का रिजर्व और सरप्लस 8.98 लाख करोड़ रुपये से बढ़कर 9.23 लाख करोड़ रुपये हो गया।


संसद में मंगलवार को पेश पीएसयू सर्वे 2016-17 के मुताबिक, कुल 82 उपक्रम घाटे में रहे। इनके घाटे में 83.82 फीसद हिस्सेदारी दस उपक्रमों की रही। इन 10 उपक्रमों में से अकेले बीएसएनएल, एयर इंडिया और एमटीएनएल की हिस्सेदारी 55.66 फीसद रही। गौरतलब है कि सरकार एयर इंडिया के रणनीतिक विनिवेश का फैसला ले चुकी है।

सर्वे के मुताबिक, बीते वित्त वर्ष 174 पीएसयू मुनाफे में रहे। इनमें 63.57 फीसद हिस्सेदारी शीर्ष 10 उपक्रमों की रही। इन शीर्ष 10 में इंडियन ऑयल की हिस्सेदारी 19.69 फीसद, ओएनजीसी की 18.45 फीसद और कोल इंडिया की हिस्सेदारी 14.94 फीसद रही।

इस सूची में हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन और मैंगलोर रिफाइनरी एंड पेट्रोकेमिकल्स ने स्थान बनाया, जबकि हिंदुस्तान फर्टिलाइजर कॉरपोरेशन और पावर फाइनेंस कॉरपोरेशन इस सूची से बाहर हो गए। कुल 257 पीएसयू का शुद्ध लाभ 2016-17 में 1,27,602 करोड़ रुपये रहा। वित्त वर्ष 2015-16 के मुकाबले इसमें 11.7 फीसद की वृद्धि हुई।

2016-17 में सार्वजनिक उपक्रमों ने विभिन्न टैक्स, शुल्क, लाभांश और ब्याज आदि के मद में केंद्र सरकार को 3.85 लाख करोड़ रुपये की राशि का भुगतान किया। 2015-16 में पीएसयू ने 2.75 लाख करोड़ रुपये की राशि केंद्र सरकार के खजाने में दी थी।


मुनाफा कमाने वाले शीर्ष 10 पीएसयू (वित्त वर्ष 2016-17)-

पीएसयू शुद्ध लाभ- (करोड़ रुपये)


इंडियन ऑयल -19,106

ओएनजीसी -17,900

कोल इंडिया - 14,501

एनटीपीसी - 9,385

भारत पेट्रोलियम - 8,039

पावरग्रिड कॉरपोरेशन - 7,520

आरईसी - 6,246

हिंदुस्तान पेट्रोलियम - 6,209

महानदी कोलफील्ड्स - 4,492

मैंगलोर रिफाइनरी - 3,644

घाटा उठाने वाले शीर्ष 10 पीएसयू (वर्ष 2016-17)


पीएसयू घाटा (करोड़ रुपये में)

बीएसएनएल - 4,793

एयर इंडिया - 3,952

एमटीएनएल - 2,941

हिंदुस्तान फोटो फिल्म्स - 2,917

सेल - 2,833

राष्ट्रीय इस्पात निगम - 1,263

वेस्टर्न कोलफील्ड्स - 777

एसटीसीएल - 563

ब्रह्मापुत्र क्रैकर्स - 547

एयर इंडिया इंजी. - 407


(स्त्रोत : पीएसयू सर्वे 2016-17)