मुंबई। भारतीय बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण (इरडा) ने हाल ही में नए नियम जारी किए हैं, जिसमें ऐसे प्रावधान शामिल किए गए हैं जो कि स्वास्थ्य बीमा से जुड़े हैं। इन नियमों में यह निर्देशित किया गया है कि गंभीर बीमारियों को बीमा कंपनियां, बीमा कवर से बाहन न करें।

कहा गया है कि बीमा लेने के बाद कोई बीमारी होती है तो उसे कवर से बाहर नहीं रखा जाना चाहिए। जिन बीमारियों को लेकर बात की गई है उनमें मानसिक परेशानियों, न्यूरो संबंधी विकार, जेनेटिक बीमारियां, मनोवैज्ञानिक विकार और अन्य गंभीर बीमारियों का उल्लेख है।

गौरतलब है कि बीमा कंपनियों व चिकित्सा बीमा योजनाओं में काफी बढ़ोतरी हो रही है जिसके चलते यह नियम जारी किए गए। बीमा नियामक ने एक समूह का गठन कर इस प्रस्ताव पर विचार किया। जिसके बाद इसी समूह के सदस्यों की अनुशंसा पर स्वास्थ्य बीमा से जुड़े प्रावधान को स्वीकृत किया गया। गौरतलब है कि भारतीय बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण भारत सरकार का एक प्राधिकरण है जो कि बीमा व्यवसाय के नियमन, संवर्धन, पॅालीसीधारकों के हितों की रक्षा करने के लिए गठित किया गया है।