न्यूयार्क। दैनिक जागरण को एक बार फिर अंतरराष्ट्रीय मंच पर शानदार सफलता मिली है। देशभर के पाठकों के प्यार और स्नेह का ही नतीजा है कि लगातार तीसरे वर्ष अंतरराष्ट्रीय न्यूज मीडिया एसोसिएशन (आईएनएमए) ने दैनिक जागरण को 'दक्षिण एशिया का सर्वश्रेष्ठ अखबार' चुना है।

देशभर में सात करोड़ से अधिक पाठक संख्या वाले भारत के नंबर एक अखबार दैनिक जागरण को अंतरराष्ट्रीय न्यूज मीडिया एसोसिएशन ने उसके अभियानों के लिए इस साल 11 पुरस्कारों से सम्मानित किया है। जिसमें दो प्रथम पुरस्कार, दो द्वितीय पुरस्कार, तीन तृतीय पुरस्कार और तीन विशेष उल्लेख शामिल हैं।

इस बार के पुरस्कारों में संपादकीय एवं वीडियो कैंपेन 'बेटियों की डायरी' और कानपुर में प्रदूषण के खिलाफ अभियान 'जागो कानपुर' ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। वहीं 'यूथ पार्लियामेंट' और 'कैसिनो ग्रांडे' को द्वितीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

हरियाणा में प्रदूषण के खिलाफ व्यापक स्तर पर चलाए गए अभियान 'पराली नहीं जलाएंगे', वाराणसी में हुए 'काशी आनंद' और 'यूथ पार्लियामेंट' को तृतीय पुरस्कार के लिए चुना गया। इसके अलावा जागरण के तीन अन्य अभियान 'अमेजन आपके द्वार', 'संस्कारशाला' और 'बेटियों की डायरी' को विशेष उल्लेख प्राप्त हुआ।

इन सब में सबसे खास पुरस्कार रहा 'बेस्ट इन साउथ एशिया अवार्ड' जो 'बेटियों की डायरी' संपादकीय अभियान को दिया गया। इन अभियानों के अलावा जागरण समूह को प्रिंट और डिजिटल में पठनीयता को बढ़ावा देने की श्रेणी में प्रथम स्थान पर चुना गया।

डिजिटल माध्यम में दैनिक जगरण की उपस्थिति जागरण डॉट कॉम के रूप में मौजूद है। गौरतलब है कि आईएनएमए में 11 अवार्ड जीतने के बाद दैनिक जागरण पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा पुरस्कार जीतने वाला समाचार पत्र बन गया है।

समाचार पत्रों को दिए जाने वाले पुरस्कारों की सभी श्रेणियों में दैनिक जागरण ने दुनिया के किसी भी देश के समाचार पत्र से अधिक पुरस्कार जीते हैं। अंतरराष्ट्रीय न्यूज मीडिया एसोसिएशन के इन पुरस्कारों के लिए दुनिया के 34 देशों की 165 मीडिया कंपनियों ने कुल 664 एंट्रीज भेजी थीं।

जिन्हें 15 देशों के 46 ज्यूरी सदस्यों द्वारा परखा गया। अंतरराष्ट्रीय न्यूज मीडिया एसोसिएशन वर्ष 1935 से मीडिया इंडस्ट्री में बेहतरीन काम को सम्मनित करने का उपक्रम कर रही है।