नई दिल्ली। नकदी संकट से गुजर रही कंपनी जेट एयरवेज ने सोमवार को कहा कि उसने अपने चार और विमानों को परिचालन से बाहर कर दिया है। इसके साथ ही लीज किराए का भुगतान नहीं कर पाने के कारण कंपनी के परिचालन से बाहर किए विमानों की कुल संख्या बढ़कर 41 पर पहुंच गई है। विमानन कंपनी फंड जुटाने की कोशिश में लगी हुई है।

कंपनी ने शेयर बाजारों को दी गई सूचना में कहा कि लीज किराए का भुगतान नहीं किए जा सकने के कारण चार और विमानों को परिचालन से बाहर कर दिया गया है। कंपनी ने कहा कि वह किराए पर विमान देने वाले सभी पक्षों के संपर्क में है और उन्हें नकदी बढ़ाने के लिए की जा रही कोशिशों की अद्यतन जानकारी दे रही है।

किराए पर विमान देने वाले पक्षों का इस मामले में कंपनी के साथ सहयोगपूर्ण रुख है। कंपनी के वेबसाइट के मुताबिक जेट एयरवेज के बेड़े में 119 विमान हैं। बीएसई पर कंपनी के शेयर 0.87 फीसद तेजी के साथ 237 रुपये पर बंद हुए।