मुंबई। निजी क्षेत्र के आइसीआइसीआइ से होमलोन लेने की तैयारी कर रहे लोगों के लिए अच्छी खबर है। लिक्विडिटी की अधिकता से जूझ रहे बैंक ने ग्राहकों को लोन की पूरी अवधि तक प्रत्येक ईएमआइ पर एक फीसद का कैशबैक देने की घोषणा की है।

इस योजना से 30 साल का होमलोन लेने वाले ग्राहक को अपने मूलधन के 11 फीसद के बराबर का कैशबैक मिल सकता है। बैंक के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर अनूप बागची ने गुरुवार को यह घोषणा की।

कैशबैक का यह लाभ लेने के लिए कुछ शर्तें तय की गई हैं। योजना कम से कम 15 साल और अधिकतम 30 साल के लोन पर उपलब्ध होगी। पहली ईएमआइ से ही कैशबैक लागू होगा, लेकिन ग्राहक के खाते में पहली बार इसे 36 महीने बाद जमा कराया जाएगा।

इसके बाद हर साल कैशबैक की राशि ग्राहक के खाते में जमा होगी। ग्राहक इसे सीधे मूलधन में से भी कम करा सकता है।

बागची ने कहा कि सरकार की ओर से मिल रही सब्सिडी और आयकर में छूट वगैरह को देखते हुए इस समय होमलोन पर प्रभावी दर मात्र 4.62 फीसद है।

कुछ समय पहले एक्सिस बैंक ने भी ग्राहकों के लिए ऐसी ही योजना की घोषणा की थी। बैंक ने ग्राहकों को 12 ईएमआइ में छूट देने की बात कही है।

इसके तहत चौथे, आठवें और बारहवें साल के अंत में चार-चार ईएमआइ की छूट दी जाएगी। इस तरह की छूटों के जरिये बैंकों का प्रमुख लक्ष्य ग्राहकों को समय पर ईएमआइ चुकाने के लिए प्रोत्साहित करना है।

बैंक ऑफ बड़ौदा ने की बेस रेट में कटौती

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ऑफ बड़ौदा ने बेस रेट को 0.35 फीसद घटाकर 9.15 प्रतिशत कर दिया है। नई दर एक अक्टूबर से प्रभावी हो जाएगी। बैंक ने गुरुवार को यह जानकारी दी।

बेस रेट वह न्यूनतम दर है जिससे कम पर बैंक कर्ज नहीं दे सकते। इस आधार दर को मौजूदा 9.50 फीसद सालाना से घटाकर 9.15 प्रतिशत किया गया है।

बैंक ने मानक उधारी दर (बीपीएलआर) भी 13.80 फीसद सालाना से घटाकर 13.45 प्रतिशत कर दी है। बैंक के इन दोनों कदमों से पुराने ग्राहकों के लोन की ईएमआइ घट जाएगी।