मुंबई। आर्थिक तंगी से जूझ रहे जेट एयरवेज के दो और विमान लीज किराया भुगतान नहीं होने के कारण परिचालन से बाहर हो गए। इस प्रकार अब तक कुल 23 विमान लीज किराया भुगतान न होने के कारण परिचालन से बाहर हो चुके हैं।

एयरलाइन की फ्लीट में मौजूद विमानों की कुल संख्या का यह बीस फीसद है। स्टाक एक्सचेंज को शनिवार को दी गई सूचना में जेट एयरलाइन ने बताया, 'लीज किराया भुगतान न किए जाने के कारण दो और विमानों का परिचालन बंद हो गया है।' इसमें कहा गया है कि सभी विमानों के लीजधारकों के साथ कंपनी निरंतर संपर्क में है। एयरलाइन नकदी संकट दूर करने की कोशिश कर रही है।

कंपनी ने कहा है कि विमानों के परिचालन बंद होने से आने वाली बाधाओं को दूर करने का प्रयास किया जा रहा है। यात्रियों को सूचित किए जाने के साथ-साथ उनके लिए वैकल्पिक व्यवस्था भी की जा रही है। डीजीसीए को भी आवश्यक सूचनाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं। सात फरवरी को पहली बार जेट एयरवेज के चार विमान लीज भुगतान न होने के कारण परिचालन से बाहर हुए थे। इसके बाद से यह सिलसिला जारी है।