नई दिल्ली। जेट एयरवेज के संस्थापक नरेश गोयल ने संकट में फंसी कंपनी में अपनी 26 प्रतिशत हिस्सेदारी पंजाब नेशनल बैंक के पास गिरवी रखी है। यह हिस्सेदारी कर्ज के लिए सुरक्षा गारंटी है।

ऋ ण समाधान योजना के तहत नरेश गोयल और उनकी पत्नी अनिता गोयल पिछले सप्ताह कंपनी के निदेशक मंडल से हट गए थे। जेट एयरवेज ने गुरुवार को शेयर बाजार को भेजी गई सूचना में कहा कि गोयल ने पीएनबी के पास 2.95 करोड़ शेयर यानी 26.01 प्रतिशत हिस्सेदारी गिरवी रखी है।

जेट एयरवेज (इंडिया) लिमिटेड की तरफ से लिए गए नए/मौजूदा कर्ज के लिए सुरक्षा के तौर यह हिस्सेदारी चार अप्रैल को गिरवी रखी गई है। जानकारी के मुताबिक, इसी दिन गोयल को 5.79 करोड़ से अधिक शेयर जारी किए गए थे। ये शेयर एयरलाइन द्वारा कर्ज के लिए सुरक्षा के तौर पर 'नहीं बिकने वाली श्रेणी' में रखे गए थे।

कंपनी की बोली लगा सकते हैं गोयल

नरेश गोयल जेट एयरवेज में हिस्सेदारी खरीदने के लिए शुरुआती बोली जमा कर सकते हैं। एसबीआई कैप ने 8 अप्रैल को जेट एयरवेज में हिस्सेदारी बिक्री के लिए अभिरुचि पत्र आमंत्रित किया है। उसने अंतिम बोली जमा करने की तिथि 10 अप्रैल से बढ़ाकर 12 अप्रैल कर दी है।