मुंबई। टाटा संस ने शुक्रवार को कहा कि जेट एयरवेज का अधिग्रहण करने के लिए उसने कोई ठोस प्रस्ताव नहीं दिया है और इस विषय पर चर्चा सिर्फ शुरुआती स्तर पर है।

बाजार में ऐसी चर्चा गर्म है कि टाटा संस अपनी विदेशी साझेदार सिंगापुर एयरलाइंस के साथ मिलकर नरेश गोयल की विमानन कंपनी जेट एयरवेज का अधिग्रहण करना चाहती है।

टाटा संस ने अपनी बोर्ड बैठक के बाद एक बयान में कहा कि वह स्पष्ट करना चाहती है कि जेट एयरवेज को खरीदने की कोई भी चर्चा शुरुआती स्तर पर है और कोई प्रस्ताव नहीं दिया गया है।

कयासबाजी के कारण जेट एयरवेज के शेयरों में पिछले पांच सत्रों में 40 फीसद से अधिक उछाल दर्ज किया गया है। शुक्रवार को कंपनी के शेयर 8.07 फीसद तेजी के साथ 346.85 रुपये पर बंद हुए।

टाटा संस की बोर्ड बैठक में सकारात्मक फैसले लिए जाने की उम्मीद में कंपनी के शेयर सुबह 14 फीसद से अधिक तेजी के साथ खुले। जेट एयरवेज में चेयरमैन और प्रमोटर नरेश गोयल और उनके परिवार की 51 फीसद हिस्सेदारी है। इस कंपनी में ऐतिहाद एयरवेज की 24 फीसद हिस्सेदारी है।