बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

21वीं सदी सतयुग की वापसी सदी, 21वीं सदी उज्जवल भविष्य की सदी गायत्री परिवार के संस्थापक श्रीराम शर्मा आचार्य के विचार हैं। इसे सार्थक करने विनोबा नगर स्थित गायत्री शक्तिपीठ में उपजोन स्तरीय संगोष्ठी बुधवार को हुई। इसमें आचार्यश्री के विचारों को सार्थक करने गृहे-गृहे गायत्री उपासना-यज्ञ विषय पर विचार रखे गए।

शांतिकुंज हरिद्वार से आए योगेंद्र गिरी व पूरण चदं्राकर ने संदेश दिया और कहा कि आचार्य श्रीराम शर्मा के दिव्य विचारों को सार्थक करने दिव्य योजना बनाई गई है। इसके तहत देश के दो लाख 40 हजार घरों में एक साथ एक ही समय पर दो जुलाई को सुबह 9.30 से 12.30 तक नए घरों में यज्ञ कराकर नए दीक्षित परिजनों को सक्रिय करेंगे और सामूहिक ऊर्जा का लाभ लेंगे। गिरी ने कहा कि इस यज्ञीय प्रक्रिया द्वारा देव स्थापना कराकर नियमित उपासना, परंपरा, नियमति स्वाध्याय व समय दान की परंपरा को पुनर्जीवित कर व्यक्ति निर्माण, परिवार निर्माण, व समान निर्माण के लक्ष्य को पूरा करना है। साथ ही संगोष्ठी में पर्यावरण संरक्षण व जल संरक्षण के लिए भी परिजनों ने संकल्प लिया। इस अवसर पर शीतल पाटनवार, रामकुमार श्रीवास, द्वारिका प्रसाद पटेल, गणेश श्रीवास, हेमराज वैश्य, श्रीकांत शर्मा, जे.लाल, सविता तिवारी, आशा सुल्तानिया समेत बड़ी संख्या में सभी ब्लॉक के समन्यकों व सक्रिय सहयोगियों की उपस्थिति रही।