बिलासपुर । नईदुनिया प्रतिनिधि

नोटा को छोटा समझना राजनीतिक दल के उम्मीदवारों व रणनीतिकारों को भारी पड़ सकता है। वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव में तखतपुर के कांग्रेस प्रत्याशी आशीष सिंह व मुंगेली के कांग्रेस उम्मीदवर चंद्रभान बारमते जितने वोटों के अंतर से चुनाव हारे थे उससे दोगुना वोट नोटा के हिस्से में गया था । आलम ये कि बिलासपुर लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले आठ विधानसभा क्षेत्रों में नोटा तीसरे नंबर पर रहा । कमोबेश कुछ इसी तरह की स्थिति वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव में भी देखने को मिला।

भारत निर्वाचन आयोग ने पहली बार वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव में मतदाताओं को नोटा का विकल्प दिया था। नोटा मतलब चुनाव मैदान में खड़े उम्मीदवारों में से कोई आपको पसंद नहीं है तो ईवीएम में लगे नोटा के बटन को दबाकर आप अपना वोट दे सकते हैं। मतदाताओं ने ईवीएम के इस विकल्प का जमकर उपयोग किया। बिलासपुर लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले आठ विधानसभा क्षेत्रों में ऐसा कोई विधानसभा नहीं था जहां नोटा पर वोट न पड़े हो। नोटा ने 27 हजार 283 वोट हासिल कर भाजपा व कांग्रेस के रणनीतिकारों को चौंका दिया था। नोटा का असर ये रहा कि तखतपुर विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस उम्मीदवार आशीष सिंह 608 वोट से हारे थे । यहां नोटा को 1557 मिला था। मसलन आशीष सिंह जितने वोट से हारे थे उससे दोगुना से भी ज्यादा वोट नोटा के हिस्से में गया था । पड़ोसी मुंगेली विधानसभा के परिणाम पर नजर डालें तो कांग्रेस उम्मीदवार चंद्रभान बारमते दो हजार 475 वोट से चुनाव हारे थे। नोटा को पांच हजार 25 वोट मिले थे। यहां भी दोगुना से कुछ अधिक वोटों का मामला निकला। मतलब साफ है कि नोटा का विकल्प नहीं होता तो परिणाम भी कुछ दूसरा ही होता। बिलासपुर विधानसभा में नोटा में पड़े वोट पर नजर डालें तो तीन हजार 669 वोट की गिनती हुई थी । कोटा विधानसभा में एक हजार 74 वोट नोटा में पड़े थे और साढ़े पांच हजार वोटों के अंतर से डॉ.रेणु जोगी चुनाव जीती थीं ।

0 कुछ इस तरह नोटा का हिसाब

0 मरवाही विधानसभा - 7115

0 कोटा विधानसभा- 1074

0 बिलासपुर विधानसभा- 3669

0 लोरमी विधानसभा- 1469

0 मुंगेली विधानसभा- 5025

0 तखतपुर विधानसभा- 1557

0 बिल्हा विधानसभा- 7249

0 बेलतरा विधानसभा- 1607

0 मस्तूरी विधानसभा- 3618

फैक्ट फाइल

0 वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव में कुल नोटा- 27283

0 सबसे ज्यादा मरवाही में नोटा- 7115

0 तीसरे नंबर पर रहा बिलासपुर - 3669

0 सबसे कम नोटा कोटा विधानसभा में- 1074