कोरबा। नईदुनिया प्रतिनिधि

कोरबा से इतवारी के बीच प्रतिदिन चलने वाली शिवनाथ एक्सप्रेस रविवार को गेवरारोड स्टेशन से तीन घंटे लेट रवाना होगी। बिलासपुर-रायपुर व दुर्ग-गोंदिया-कलमना स्टेशनों के बीच डाउन लाइन में रखरखाव कार्य किए जाने के कारण अनेक एक्सप्रेस व पैसेंजर ट्रेनों का आवागमन दिन भर प्रभावित रहेगा। यही वजह है जो गेवरारोड से छूटने वाली एक्सप्रेस भी विलंब की जा रही है।

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के बिलासपुर-रायपुर व दुर्ग-गोंदिया-कलमना रेलखंडों में आवश्यक रखरखाव कार्य किया जाना है। डाउन रेललाइन में मशीन के जरिए होने वाले सुधार कार्य के लिए ब्लॉक लिए जाने के कारण इस दिशा में चलने वाली कई ट्रेन का परिचालन प्रभावित किया जाएगा। इसकी वजह से ट्रेन नंबर 18239 गेवरारोड-नागपुर शिवनाथ एक्सप्रेस भी रविवार को अपने तय वक्त से तीन घंटे विलंब रवाना होगी। इसका असर इस दिशा में चलने वाली एक्सप्रेस व पैसेंजर ट्रेनों की समय-सारिणी एवं परिचालन पर दिखाई देगा। प्रभावित ट्रेनों में प्रतिदिन चलने वाली गेवरारोड-इतवारी शिवनाथ एक्सप्रेस भी शामिल है, जो गेवरारोड से छूटकर इतवारी स्टेशन तक जाती है। यह एक्सप्रेस रविवार को गेवरा स्टेशन से अपने रवानगी के तय वक्त से तीन घंटे विलंब जाएगी। इस ट्रेन के कोरबा आने का निर्धारित समय शाम पांच बजे है, जबकि गेवरा से शाम 5.55 बजे छूटकर शाम सवा छह बजे वह बिलासपुर के लिए कोरबा स्टेशन से छूटती है। रविवार को यह ट्रेन गेवरा स्टेशन से शाम 5.55 की बजाय 8.55 पर छूटेगी।

बाक्स

शनिवार को 50 मिनट देर से गई ट्रेन

शनिवार को भी शिवनाथ गेवरारोड से करीब 50 मिनट विलंब से रवाना हुई थी। ट्रेन के छूटने का वक्त शाम 5.55 बजे है, जिसके विपरीत शनिवार को यह शाम 6.45 बजे गेवरा से छूटी। ट्रेन का आगमन विलंब से हुआ था, जिसकी वजह से रवानगी के वक्त भी ट्रेन देर से गई। इसी तरह कोरबा स्टेशन से शिवनाथ एक्सप्रेस की रवानगी का निर्धारित समय शाम 6.15 बजे है, जिसकी बजाय यह ट्रेन शनिवार को 58 मिनट लेट होकर शाम 7.13 बजे कोरबा से बिलासपुर के लिए रवाना की गई। ट्रेन की टाइमिंग प्रभावित होने का सिलसिला आगे भी जारी रहा और उरगा, मड़वारानी, सरगबुंदिया में ट्रेन एक घंटे से ज्यादा विलंब चलते हुए चांपा पहुंचते एक घंटे 15 मिनट लेट हो गई।

बाक्स

छग भी आधे घंटे विलंब रवाना

शनिवार को छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस भी कोरबा स्टेशन से करीब आधा घंटा विलंब गई। रेलखंड के अन्य स्टेशनों से गुजरते परिचालन का निर्धारित पीछे छूटता गया और चांपा पहुंचते यह ट्रेन 39 मिनट विलंब हो चुकी थी। इसकी वजह से वे यात्री ज्यादा परेशान होंगे, जिन्हें दिन भर की भागदौड़ व दफ्तर के काम निपटाने के बाद ट्रेन की लेटलतीफी से गुजरना पड़ेगा। यात्री ट्रेनें लगातार विलंब से चल रही व यात्री परेशान हो रहे। ट्रेन के कोरबा आने का समय सुबह 10.30 बजे है, जबकि गेवरा से 11.15 बजे छूटकर सुबह 11.35 पर वह कोरबा स्टेशन से छूटती है। शनिवार को यह ट्रेन 26 मिनट विलंब होकर कोरबा से सुबह 11.35 की बजाय 12.01 बजे छूटी थी।

बाक्स

लगभग हर ट्रेन चल रही प्रभावित

ट्रेन के लेट होने के कारण उसमें सवार यात्रियों को परेशान होना पड़ा। खासकर उन यात्रियों को ज्यादा मुश्किल हुई जिन्हें दिन भर की भाग दौड़ व दफ्तर के काम निपटाने के लिए समय पर पहुंचने की बजाय ट्रेन की लेटलतीफी से हलकान होना पड़ा। दूसरे शहरों में काम करने वाले कार्यालयीन कर्मचारियों तथा उन विद्यार्थियों को भी मुश्किल हुई, जिन्हें रवानगी के लिए इस ट्रेन का इंतजार होता है। मालगाड़ियों को रास्ता देने आउटर में अघोषित ठहराव का असर भी यात्री ट्रेनों व यात्रियों को प्रभावित करता है। खासकर मौसम में ठंडक अब धीरे-धीरे बढ़ती हुई महसूस हो रही है। यही वजह है जो अब शाम व रात के सफर में विलंब होने से यात्रियों के लिए थोड़ी मुश्किल बढ़ जाती है।