रायपुर। इन दिनों सोशल मीडिया में एक वीडियो की जमकर अलोचना हो रही है। फेसबुक, वॉट्सएप में तेजी से वीडियो को शेयर किया जा रहा। इस पर लोग भद्दे कमेंट्स कर रहे हैं। कइयों ने छात्र राजनीति के दोहरे चरित्र पर सवाल उठाया है। बता दें कि नौ जुलाई को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के स्थापना दिवस पर सभी जिलों में कार्यक्रम आयोजित हुआ था।

छत्तीसगढ़ के कोरिया बैकुंठपुर में भी एबीवीपी छात्र नेताओं ने कार्यक्रम आयोजित किया गया था। इसमें सपना चौधरी के 'तेरी आंख्या का यो काजल...' गाने पर कार्यकर्ताओं ने जमकर ठुमके लगाए थे। इसका वीडियो तेजी से लोग शेयर कर रहे हैं।

छत्तीसगढ़ छात्र संगठन जोगी सूरजपुर के जिलाध्यक्ष दीपक कर ने फेसबुक पर वीडियो शेयर करते हुए लिखा है कि एबीवीपी अपने स्थापना दिवस पर ज्ञान, शील, एकता, सभ्यता, संस्कार का परिचय देते हुए सभी छात्रों को संस्कारों से अवगत करवाया। आगे लिखा है-यह एबीवीपी का दोहरा चरित्र है।

फेसबुक में वीडियो शेयर होते ही लोगों ने कमेंट्स करने शुरू कर दिए। एबीवीपी बैकुंठपुर कोरिया के छात्र नेता प्रखर गुप्ता ने लिखा कि छात्र संगठन की कॉलेज में और छात्र-छात्राओं के बीच अलग छवि होती है। कॉलेज परिसर में इस तरह नाचना गलत है।

छत्तीसगढ़ छात्र संगठन जोगी द्वारा शेयर किए गए वीडियो को एनएसयूआई के छात्र नेताओं ने भी वॉट्सएप और फेसबुक पर शेयर किया। यह वीडियो अब छात्र संगठनों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है। एबीवीपी ने इस पर सफाई देते हुए कहा कि कार्यक्रम के समापन के बाद सभी ने डांस किया था।

दोहरा चरित्र है

एबीवीपी के स्थापना दिवस पर उसका दोहरा चेहरा सब के सामने आ गया। एबीवीपी के छात्र नेता जो खुद का महिमा मंडन करते हैं, उनका असली रूप बाहर आ गया है। ऐसे गानों पर नाचना संगठन के स्थापना दिवस पर शोभा नहीं देता। - प्रदीप साहू, कार्यकारी प्रदेशाध्यक्ष, छत्तीसगढ़ छात्र संगठन जोगी

कार्यक्रम के समापन के बाद हुआ सब

नौ जुलाई को प्रदेश के लगभग सभी जिलों में स्थापना दिवस के तहत कार्यक्रम आयोजित किया गया। बैकुंठपुर कोरिया में भी कार्यक्रम हुआ। यह वीडियो कार्यक्रम के समापन के बाद का है। - विकास मित्तल, विभाग सह-संयोजक, एबीवीपी